Kota: युवक ने 'क्राइम पेट्रोल' देख खुद के किडनैपिंग की रची साजिश, पुलिस ने चुटकी में यूं सॉल्व की झूठी कहानी 

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

kidnapping
kidnapping
social share
google news

Kota: कोटा में पुलिस ने किडनैपिंग की झूठी घटना का 24 घंटे के भीतर पर्दाफाश किया है. युवक ने मां-बात से पैसे पाने के लिए खुद के किडनैप होने की साजिश रची थी. युवक ने किडनैपिंग का षड्यंत्र टीवी सीरियल देखकर रचा था. अब पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़कर परिजनों को सौप दिया है. 
      
एसपी डॉ अमृता दुहन ने बताया कि शहर के जगपुरा के रहने वाले भोजराज गोचर ने 2 जुलाई को रानपुर थाने में अपने बेटे सूरज गोचर की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. जांच पड़ताल के दौरान पिता भोजराज ने पुलिस को बताया कि उसके बेटे सूरज के व्हाट्सएप नंबर से अज्ञात व्यक्ति फोटो भेज रहा है, जिसमें सूरज का मुंह रुमाल से बंधा हुआ और हाथ पीछे की तरफ बंधे हुए हैं. सूरज को छोड़ने के बदले उनसे 2 लाख की डिमाण्ड कर रहा है.

24 घंटे में ही किया दस्तयाब

पुलिस ने मामले में गंभीरता दिखाते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिलीप सैनी व सीओ मनीष शर्मा के नेतृत्व में एसएचओ भंवर सिंह व एसआई भीम सिंह की टीम गठित की गई. टीम ने तुरंत कार्रवाई कर तकनीकी सहायता से गुमशुदा सूरज गोचर को 24 घंटे के अंदर बुधवार को जयपुर रेलवे स्टेशन से दस्तयाब कर लिया.

ऑनलाइन गेम में हारे 40 हजार     

पूछताछ में सामने आया कि इंस्टाग्राम एप पर ऐड देखकर सूरज गोचर ने ऑनलाइन गेम खेलना शुरू किया, जिसमें वह 40 हजार रुपए हार गया. फिर उसने घरवालों से रुपए प्राप्त करने का प्लान क्राइम पेट्रोल सीरियल देखते हुए बनाया. कोटा से जयपुर आकर एक हॉस्टल में रुक कर अपने फोन में टाइमर सेट कर दिया. उसके बाद मुंह को रुमाल से बांधकर हाथ पीछे कर कमरे के बंद गेट के पास लेट कर अपने आप को किडनैप होना बता खुद के मोबाइल से लिये फोटो पिता के व्हाट्सएप नंबर पर भेज चैटिंग करते हुए 2 लाख की फिरौती मांगी. जांच में किडनैपिंग की पूरी कहानी झूठी एवं मनगढ़ंत पाई गई है.

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT