50 रुपये का लालच देकर मासूम बच्चों से करवाया जा रहा था पटाखा फैक्ट्री में काम, आग लगने से 3 झुलसे

Santosh Sharma

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Alwar News: अलवर जिले के थानागाजी कस्बे के भड़भूंजा मोहल्ले में अवैध पटाखा फैक्ट्री में अचानक विस्फोट होने से 3 बच्चे गंभीर रूप से झुलस गए. आसपास के लोगों ने उन्हें बाहर निकाला और थानागाजी अस्पताल में पहुंचाया. हालत गंभीर होने पर उन्हें अलवर के राजीव गांधी सामान्य अस्पताल में रेफर कर दिया गया जहां उनका इलाज चल रहा है.

गौरतलब है कि अलवर के थानागाजी थाना अंतर्गत एक घर में अवैध रूप से आतिशबाजी (पटाखे) बनाने का काम होता है. प्रतिदिन 10 बच्चे यहां बाल मजदूरी करते हैं जिन्हें इसके बदले रोज ₹50 दिए जाते हैं. घायल बच्चों ने बताया कि पटाखे बनाते बनाने के दौरान उनके पैर के नीचे कोई पटाखा आ गया था जिससे चिंगारी निकली और विस्फोट हो गया. इस दुर्घटना में बरगुंडा मोहल्ला निवासी आदित्य (12 वर्ष), सनी (8 साल) और गौरव (13 वर्ष) 50 फीसदी तक झुलस गए.

पुलिस की प्रारंभिक जानकारी में सामने आया है कि थानागाज़ी के भड़भूंजा मोहल्ले में फैक्ट्री मालिक गौरी भार्गव अवैध पटाखे बनाने का काम करता है. वह गरीब परिवार के बच्चों के स्कूल से वापस लौटने के बाद उन्हें मामूली पैसों का लालच देकर पटाखे बनवाता था. इस घटना की सूचना के बाद भी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

थानाधिकारी रामजी लाल मीणा ने बताया कि फैक्ट्री मालिक गौरी भार्गव इसी इलाके का रहने वाला है. वह फैक्ट्री में ताला लगाकर फरार हो गया है जिसकी खोज की जा रही है. अगर मालिक नहीं आता है तो स्वीकृति के बाद फैक्ट्री का ताला तोड़कर देखा जाएगा कि यह काम अवैध था या नहीं.

यह भी पढ़ें: राजस्थान यूनिवर्सिटी में पंजाबी सिंगर ने किया परफॉर्म, इस दौरान पुलिस ने किया लाठीचार्ज, जानें वजह

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT