धौलपुर: मॉर्निंग वॉक के लिए निकले मार्शल आर्ट कोच को पिकअप ने मारी टक्कर, हुई दर्दनाक मौत

Umesh Mishra

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: राजस्थान के धौलपुर जिले में सोमवार को मार्शल आर्ट के कोच माताप्रसाद टाइगर की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई. उनकी मौत की खबर सुनते ही जिले में शोक की लहार दौड़ गई और लोग अस्पताल पहुंच गए. पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सुपुर्द कर दिया है. वहीं दुर्घटना को अंजाम देकर पिकअप गाड़ी चालक मौके से फरार हो गया.

जानकारी के मुताबिक, 57 वर्षीय माताप्रसाद टाइगर सुबह के समय बाड़ी सड़क मार्ग पर टहलने जा रहे थे. तभी धौलपुर की तरफ से तेज रफ्तार में जा रही पिकअप गाड़ी ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया. दुर्घटना इतनी जबरदस्त थी कि टाइगर करीब दस फीट हवा में उछल कर नीचे सड़क पर गिर पड़े. वाहन चालक दुर्घटना को अंजाम देकर तुरंत मौके से फरार हो गया. घटना की जानकारी मिलने पर लोग माताप्रसाद को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

यह भी पढ़ें: शहीदों की पत्नियां धरने से अचानक हुईं गायब, अब दिल्ली में प्रियंका गांधी से CM गहलोत की करेंगी शिकायत!

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

टाइगर की मौत की खबर से जिलेभर में शोक की लहर दौड़ गई. मार्शल आर्ट के स्टूडेंट्स के साथ लोग जिला अस्पताल पर भारी तादाद में जमा हो गए. शहर की बड़ी-बड़ी हस्तियां शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंची. उधर जिला अस्पताल पहुंची कोतवाली पुलिस ने डेड बॉडी को कब्जे में लेकर शवगृह में रखवाया. दोपहर को परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम कराकर शव को सुपुर्द कर दिया है. अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है. पुलिस उप निरीक्षक सोहन सिंह ने बताया कि माताप्रसाद टाइगर का बाड़ी रोड पर झोर वाली माता मंदिर के पास एक्सीडेंट हो गया था. अस्पताल में चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. रिपोर्ट दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

नि:शुल्क देते थे आत्मरक्षा का प्रशिक्षण
धौलपुर में माताप्रसाद को टाइगर के नाम से पहचाना जाता था. वह सरकारी स्कूल में अध्यापक के पद पर कार्यरत थे. मार्शल आर्ट में उन्हें महारत हासिल थी. जिले के दर्जनों मार्शल आर्ट खिलाड़ियों को उन्होंने नेशनल एवं इंटरनेशनल तक पहुंचाया है. चीन और जापान में भी माता प्रसाद टाइगर मार्शल आर्ट की प्रस्तुति दे चुके हैं. वह इन्फेंट स्कूल में विगत दस साल से छात्र एवं छात्राओं को निशुल्क मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण दे रहे थे. हाल ही में जिला प्रशासन ने उन्हें बेटियों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण देने की जिम्मेदारी दी थी. जिले की सैकड़ों बेटियों को उन्होंने मार्शल आर्ट में पारंगत किया था. इसके अलावा एक दर्जन से अधिक मार्शल आर्ट के खिलाड़ियों को उन्होंने मुकाम पर पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की है. माताप्रसाद टाइगर की दुर्घटना में हुई मौत से जिले भर में शोक की लहर देखी जा रही है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: शहीदों की पत्नियां धरने से अचानक हुईं गायब, अब दिल्ली में प्रियंका गांधी से CM गहलोत की करेंगी शिकायत!

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT