अपना राजस्थान

1971 भारत-पाक युद्ध के नायक भैरोसिंह के निधन पर पीएम मोदी ने जताया दुख, देशभर में शोक की लहर

Jodhpur News: 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान लोंगेवाला की लड़ाई में अपने पराक्रम और शौर्य से दुश्मन सैनिकों को ढेर करने वाले नायक भैरोसिंह ने आज जोधपुर के एम्स हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली. जानकारी के अनुसार भैरोसिंह का शव कुछ ही देर में जोधपुर एम्स हॉस्पिटल से पहले मंडोर बीएसएफ हेड क्वार्टर और […]

Jodhpur News: 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान लोंगेवाला की लड़ाई में अपने पराक्रम और शौर्य से दुश्मन सैनिकों को ढेर करने वाले नायक भैरोसिंह ने आज जोधपुर के एम्स हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली. जानकारी के अनुसार भैरोसिंह का शव कुछ ही देर में जोधपुर एम्स हॉस्पिटल से पहले मंडोर बीएसएफ हेड क्वार्टर और फिर पैतृक गांव सोलंकिया तला ले जाया जाएगा. भैरो सिंह के निधन पर पीएम नरेंद्र मोदी ने दुख जताया.

भैरो सिंह राजस्थान के जोधपुर जिले के शेरगढ़ इलाके के सोलंकिया तला के रहने वाले थे. 80 साल के भैरो सिंह 31 दिसंबर 1987 में बीएसएफ से रिटायर्ड हुए थे. सीने में दर्द और बुखार होने के बाद उन्हें जोधपुर एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. भैरो सिंह के निधन की खबर मिलते ही देश में शोक की लहर छा गई.

वहीं, पीएम नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर उनके निधन पर दुख जताया. मोदी ने ट्वीट कर कहा कि “देश के नायक भैरो जी को उनके अविश्वसनीय योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा. उन्होंने देश के इतिहास के गंभीर क्षणों में अदम्य साहस और शौर्य का परिचय दिया था. उनके निधन से बेहद दुखी हूं. इस कठिन समय में मेरी सांत्वना उनके परिवार के साथ है. ओम शांति.”

गौरतलब है कि विजय दिवस के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भैरोसिंह के बेटे सवाई सिंह से बात कर कुशलक्षेम पूछी थी. इससे पहले भैरो सिंह को 27 सितंबर को भी एम्स में भर्ती कराया गया था. जहां पर कुछ दिन इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई थी. साथ ही एम्स प्रशासन ने भर्ती होने के बाद भैरो सिंह का निशुल्क इलाज करने का फैसला लिया था. लंकियातला गांव में जन्में भैरो सिंह राठौड़ 1963 में बीएसएफ में भर्ती हुए. वर्ष 1971 में भारत पाकिस्तान का युद्ध हुआ जो 13 दिन चला. युद्ध के समय वह डी-कंपनी की 14वीं बटालियन के तीसरे प्लाटून में तैनात थे. इस युद्ध के दौरान वे पंजाब बटालियन के लिए गाइड की भूमिका में थे. जिसमें भैरो सिंह ने कई पाकिस्तानी दुश्मनों को मार गिराया था.

यह भी पढ़ेंः 1971 के भारत-पाक युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के महानायक भैरो सिंह की ये है कहानी

 

राजस्थान घूमने का बना रहे हैं प्लान तो ये 10 जगहें हो सकती है खास, देखें IAS टीना डाबी के बेटे की पहली फोटो आई सामने, लाड़ करते दिखे मौसाजी उदयपुर-जयपुर वंदे भारत ट्रेन को बेपटरी करने की साजिश! फिर क्या हुआ? जानें नई-नवेली मां बनीं टीना के बेटे की तस्वीर आ गई सामने, देखिए पहली झलक IAS टीना को कोरोना काल में मिले सेकेंड चांस ने बदल दी उनकी लाइफ शूरवीर महाराणा प्रताप के वंशज आज कहां हैं और क्या करते हैं? बीजेपी को मिल गया CM Face! वसुंधरा राजे का विकल्प हैं दीया कुमारी? ‘गुरु बड़ा या भगवान’ फेमस कथावाचक जया किशोरी ने बताया Kota में बन सकेगा पासपोर्ट, नहीं जाना पड़ेगा Jaipur, जानें डिटेल नई नवेली मां बनी टीना डाबी के पहले पति कौन थे, देखें तस्वीरें IAS बनने के लिए छोड़ दी थी ये 3 चीजें, जानें IITian नेहा ब्याडवाल का सक्सेस मंत्र महाराणा प्रताप के वंशज ने दिया राजनीति में आने का संकेत, इस सीट से लड़ सकते हैं चुनाव जया किशोरी ने बताया वजन कम करने के लिए क्या खाएं, शेयर किया सीक्रेट फॉर्मूला घाघरा-लूगड़ी पहन यूरोपियन शादी में पहुंची धौली मीणा तो दुल्हन ने दिया ऐसा रिएक्शन कौन हैं ये सांसद जिन्हें BJP ने सचिन पायलट के गढ़ में बनाया इंचार्ज, जानें राजस्थान में PM मोदी के कार्यक्रम के बाद क्यों हो रही है दीया कुमारी की चर्चा? जानें कोटा ही नहीं, राजस्थान में ‘चाचा कोटा’ भी है एक खास जगह ‘आप कुछ भी करें, लोग…’, जब तलाक के बाद IAS टीना डाबी को लिखनी पड़ी थी ये पोस्ट नई नवेली मां बनीं IAS टीना डाबी ने तलाक के बाद युवतियों को दिया था ये मेसेज बिकनी गर्ल्स के बीच जिन कपड़ों में हुई थीं फेमस, अब धौली उन्हें ही कर रहीं प्रमोट