सरिस्का टाइगर रिजर्व से आई खुशखबरी, CM गहलोत और कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने किया ये ट्वीट

Sanjay Sharma

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Number of tigers increased in Sariska Tiger Reserve: सरिस्कार टाइगर रिजर्व (sariska tiger reserve) से आई खुशखबरी पर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश (jairam ramesh) ने ट्वीट कर खुशी जाहिर की है. यहां बाघिन एसटी-19 ने दो शावकों को जन्म दिया है. बाघिन को शावकों के साथ कैमरे ट्रैप में कैद किया गया है. सरिस्का के सीसीएफ आरएन मीणा ने बताया कि अलवर बफर रेंज में लगे एक कैमरे में 6 जुलाई को एसटी 19 लिवारी के जंगल में दो शावक के साथ नजर आई है.

(Rajasthan news) ध्यान देने वाली बात है कि सरिस्का प्रशासन की तरफ से 2 दिनों में कैमरों को चेक किया जाता है. इस दौरान रविवार को इसकी जानकारी सरिस्का प्रशासन को मिली. वन अधिकारियों ने कहा कि बाघिन एसटी-19 की मेटिंग बाघ एसटी-18 के साथ हुई थी. पिछले 3 महीने से लगातार वन कर्मियों की टीम बाघ एसटी-18 और एसटी-19 की मॉनिटरिंग कर रहा था क्योंकि बाघिन एसटी-19 पिछले दिनों आबादी क्षेत्र में आ गई थी.

इसी तस्वीर की ट्वीट कर सीएम गहलोत ने लिखा.’वन में नव जीवन सरिस्का टाइगर रिज़र्व से 2 शावकों के जन्म का सुखद समाचार मिला। अब सरिस्का टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या बढ़कर 30 हो गई है। पर्यावरण हेतु महत्वपूर्ण बाघों के संरक्षण हेतु सरकार प्रतिबद्ध है।’

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

खत्म हो गई थी बाघों की आबादी- जयराम रमेश
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने लिखा- ‘महज़ 15 साल पहले विशाल सरिस्का टाइगर रिज़र्व में बाघों की आबादी पूरी तरह ख़त्म हो गई थी। इनकी संख्या घटकर बिल्कुल शून्य हो गई थी। तब सरिस्का के पुराने स्वरूप को वापस लाने के लिए स्थानांतरण पर विचार किया गया था, जिसका भारी विरोध हुआ। विरोध करने वालों में कुछ बाघ विशेषज्ञ भी शामिल थे। लेकिन रणथंभौर और अन्य जगहों से स्थानांतरण शुरू हुआ और आज सरिस्का में 30 बाघ हैं। वहां 40 बाघ रह सकते हैं। यह सफलता की एक असाधारण कहानी है जो 2014 से बहुत पहले शुरू हुई थी!’

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

बाघों का कुनबा बढ़कर हुआ 30
सरिस्का में अब 8 शावक, बाघ 8 और बाघिनों की संख्या 14 है. इस हिसाब से बाघों का कुनबा 30 हो गया है. हालांकि अभी बाघ एसटी 13 की तलाश चल रही है. बाघ एसटी 13 मिसिंग है. वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि सरिस्का में बाघों का कुनबा बढ़ रहा है. बाघों की संख्या बढ़ने से यहां आने वाले पर्यटकों को लगातार इनकी साइटिंग होगी. सरिस्का एक बार फिर से बाघों से गुलजार होने लगा है. सभी क्षेत्र में बाघों की साइटिंग पर्यटकों को हो रही है.

यह भी पढ़ें:

Bhilwara: 30 वर्ष बाद गांव में आई नदी, ग्रामीणों ने इस अनोखे अंदाज से किया स्वागत, हर तरफ हो रही चर्चा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT