CM गहलोत से जुड़ी PR एजेंसी पर कथित सर्वे रिपोर्ट बेचने का आरोप? डिजाइन बॉक्स्ड ने ट्वीट कर बताई सच्चाई

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Design Boxed’s response to the alleged allegation of selling survey reports: राजस्थान (rajasthan news) में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (ashok gehlot) के मीडिया कैम्पेनर नरेश अरोड़ा (naresh Arora) और डोटासरा (govind singh dotasra) के बीच अभी कथित विवाद सुर्खियों में था तभी एक नया मामला सामने आ गया है. नरेश अरोड़ा की PR एजेंसी डिजाइन बॉक्स्ड को लेकर एक न्यूज पेपर की खबर चर्चा में है. इसमें कहा गया है कि एजेंसी के एक कर्मचारी ने DesignBoxed सर्वेक्षण को एक राजनीतिक दल को 20 लाख रुपए में बेच दिया है.

इस मामले पर एजेंसी की तरफ से ट्विटर पर प्रतिक्रिया आई है. एजेंसी का कहना है कि ये खबर काल्पनिक है. एजेंसी ने अखबार पर अपने खिलाफ फेक न्यूज प्रसारित करने का आरोप भी लगाया है.

ये है पूरा मामला

दरअसल राष्ट्रदूत अखबार में 11 अक्टूबर को प्रकाशित खबर के मुताबिक अशोक गहलोत ने नरेश आरोड़ा को राजस्थान में पार्टी की स्थिति तथा संभावित विजेताओं व चुनाव हारने वालों का सर्वे करने के लिए करोड़ों रुपए दिए हैं. अरोड़ा की टीम में आसिफ नाम के एक व्यक्ति ने कथित रूप से पूरा सर्वे भाजपा को 20 लाख रुपए में बेच दिया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

डोटासरा से कथित विवाद के बाद एजेंसी चर्चा में आई

पिछले महीने 23 सितंबर को राहुल गांधी की सभा से पहले पार्टी प्रभारी सुखजिंदर सिह रंधावा, पीसीसी चीफ डोटासरा और अरोड़ा एक मीटिंग में मौजूद थे. दैनिक भास्कर में प्रकाशित गोविंद सिंह डोटसरा के इंटरव्यू के मुताबिक मुताबिक अरोड़ा के साथ डोटासरा की बहस हुई. जिसके पीछे की वजह डोटसरा ने बताया कि चुनाव में पार्टी की रणनीति को लेकर नारा और कैंपेन के बारे में पूछा गया था. बाद में डिजाइन बॉक्स्ड के सीईओ नरेश अरोड़ा ट्वीट कर इस विवाद का खंडन किया.

क्या है डिजाइन बॉक्स्ड

डिजाइन बॉक्स्ड एक पीआर एजेंसी है, जिसे गहलोत सरकार की स्ट्रेटजी और कैंपेन के लिए हायर किया गया है. जब कर्नाटक में कांग्रेस की एकतरफा जीत का सेहरा डीके शिवकुमार और सिद्धारमैया के सिर पर बंधा जा रहा है तो चुनावी कैंपेन के लिए भी इसी इलेक्शन मैनेजमेंट कंपनी का नाम भी सामने आया था. कर्नाटक से पहले कांग्रेस के लिए ये एजेंसी 2019 का लोकसभा चुनाव, हरियाणा चुनाव, असम चुनाव का काम देख चुकी है.

ADVERTISEMENT

यहां पढ़ें वो पूरा मामला जिसमें डोटासरा ने भी नरेश आरोड़ा से विवाद को नकारा

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT