Rajasthan Weather update: कोटा, बारां में भारी बारिश का अलर्ट, टोंक में बारिश ने मचाई तबाही

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

तस्वीर: मनोज तिवारी, राजस्थान तक.
social share
google news

राजस्थान (rajasthan weather update) में मानसून की बारिश कहीं राहत तो कहीं आफत बनकर बरस रही है. पिछले दिनों जयपुर (Jaipur rain alert) और सीकर (sikar rain alert) में सड़कें स्वीमिंग पूल बन गई थीं. अब टोंक में हुई भारी बारिश से सड़कें और गलियां लबालब हो गईं. कारें डूबने लगीं. वहां बढ़ जैसे हालात बन गए. मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को कोटा (kota weather), बारां (baran rain alert) और झालावाड़ (jhalawar rain alert) में भी आंधी और मेघगर्जन के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी हुआ है. 

मौसम विभाग (India Meteorological Department) के जयपुर केंद्र के मुताबिक 6 जुलाई को भी पूर्वी राजस्थान के कुछ भागों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने सकती है. वहीं 7 और 8 जुलाई को भारी बारिश की गतिविधियों में कमी होना शुरू होगा. उत्तर-पूर्वी राजस्थान के कुछ भागों में मध्यम बारिश बारिश दर्ज हो सकती है. 9 और 10 जुलाई से फिर पूर्वी राजस्थान में बारिश की गतिविधियों में बढ़ोत्तरी होना शुरू हो जाएगा. 

आगामी दो-तीन दिन बीकानेर संभाग में ऐसा रहेगा मौसम 

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर (bikaner weather alert) संभाग में आगामी 2-3 दिन दोपहर बाद बादल गरजने के साथ आंधी और बारिश के आसार हैं. जोधपुर संभाग के पूर्वी व उत्तरी भागों में भी कहीं-कहीं बारिश हो सकती है. 

टोंक में बारिश से मची आफत

बीती शाम से टोंक (tonk weather news) जिले में पहली ही बारिश ने बाढ़ जैसे हालात पैदा कर दिए. यहां पहली बारिश में मालपुरा उपखंड में भारी तबाही मच गई है. यहां मालपुरा उपखंड मुख्यालय पर गुरुवार की रात 8 बजे से शुक्रवार दोपहर 3 बजे तक जिले में सर्वाधिक 335 मिलीमीटर रिकॉर्ड बारिश हुई. बारिश से मालपुरा कस्बे के बीचोबीच पीएमश्री बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय भवन के सभी कमरे जलमग्न हो गये. 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कई मकान गिरे, नदी के बहाव में फंसे लोग

सहोदरा नदी के ऊफान का पानी चांदसेम गांव में घुस जाने से वहां कई मकान धराशायी हो गये हैं. यहां नदी के बहाव में फंसे तीन लोगों को बचाये जाने के बाद एक पिकअप भी बहाव में पटल गयी जिसे कड़ी मशक्कत के बाद भी नहीं निकाला जा सका है. मालपुरा कस्बे का तालाब भी पूरी तरह से लबालब होने के बाद ऑवरफ्लो हो गया है. उपखंड के चांदसेन बांध, घारेड़ा सागर और वर्षों से पानी को तरस रहे टोरडी सागर बांध में भी पानी की ज़बरदस्त आवक बनी हुई है. लगातार बारिश के चलते सड़कों का कटाव व उनके क्षतिग्रस्त हो जाने से कई गांवों का आपसी संपर्क कट गया है.

यह भी पढ़ें: 

Video: जयपुर और सीकर में हुई ऐसी बारिश कि सड़कें बनीं स्वीमिंग पूल, तैरने लगीं कार-बाइक्स
 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT