Sariska Tiger Reserve : सरिस्का में सफारी करना हुआ महंगा, अब पर्यटकों को देना होगा इतना चार्ज

Himanshu Sharma

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

अगर आप सरिस्का में टाइगर सफारी (Tiger Safari in Sariska ) करने का प्लान बना रहे हैं तो यह अब पहले से महंगा पड़ने वाला है. क्योंकि राजस्थान सरकार ने बाघ अभ्यारणों में प्रवेश शुल्क समेत सफारी के सभी शुल्क में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी है. सरिस्का (Sariska Tiger Reserve) में साल भर देसी-विदेशी पर्यटक घूमने के लिए आते हैं और अब सरकार के इस फैसले का असर सीधे उनकी जेब पर पड़ेगा. 

सरिस्का में आने वाले पर्यटकों को बाघों की साइटिंग होती है. इसलिए सरिस्का एक बार फिर से लोगों की पहली पसंद बन रहा है. अब सरिस्का के कोर क्षेत्र में पर्यटकों को जिप्सी गाइड फीस के लिए 140 रुपए के बजाय 154 रुपए प्रति पर्यटक देने होंगे. इसी तरह से कैंटर के लिए गाइड की फीस 50 रुपए से पढ़कर 55 रुपए कर दी गई है. कैंटर किराया 440 रुपए से बढ़ा कर 484 रुपए और जिप्सी किराया 535 रुपए से बढ़ा कर 589 रुपए कर दिया गया है. यह फीस प्रत्येक पर्यटक के हिसाब से देनी होगी.

सरिस्का के अलावा बाला किला बफर जोन में भी सफारी की रेट में बढ़ोतरी की गई है. नई दर के तहत बाला किला वन क्षेत्र में जिप्सी के लिए गाइड फीस 300 की जगह 330 रुपए और वाहन किराया 1300 रुपए से बढ़कर 1430 रुपए किया गया है.

15 जून से लागू हो गई बढ़ी हुई दरें

सरिस्का के अधिकारियों ने बताया कि 15 जून 2024 से बढ़ी हुई दरों को लागू कर दिया गया है. यह दरें 31 मार्च 2026 तक प्रभावी रहेगी. 2 साल तक अब दरों में कोई बदलाव नहीं होगा. सरिस्का प्रशासन ने बफर जोन में सिलीसेढ़-बाला किला-सुगनहोदी की टूरिस्ट सफारी के लिए भी दरों में बढ़ोतरी की है. इसमें भारतीय नागरिकों को 20 रुपये के स्थान पर 22 रुपए तथा विदेशी सैलानियों को 200 के स्थान पर 220 रुपए और वाहन शुल्क 100 रुपए के जगह पर 110 रुपए देने होंगे. इस हिसाब से अब सरिस्का में सफारी के लिए जिप्सी बुक करते समय 7620 शुल्क देना होगा. जिप्सी में 6 लोग बैठकर घूमने जा सकते हैं, जबकि कैंटर में 20 सीटर के 17,100 रुपए देने होंगे.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सरिस्का में है 100 से ज्यादा केंटर व जिप्सी

सरिस्का के दोनों गेट, बाला किला बफर जोन क्षेत्र में 100 से ज्यादा जिप्सी व कैंटर मौजूद हैं. साल भर यहां देसी-विदेशी पर्यटक यहां घूमने के लिए आते हैं. सरिस्का में इस समय 43 बाघ, बाघिन व शावक हैं. सरिस्का में पिछले आठ महीने के दौरान 7 नए शावक नजर आए हैं.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT