छात्रनेता अरविंद जाजड़ा ने CM गहलोत पर लगाया आरोप, बोले- हार के डर से रद्द किए छात्रसंघ चुनाव

विशाल शर्मा

ADVERTISEMENT

छात्रनेता अरविंद जाजड़ा ने CM गहलोत पर लगाया आरोप, बोले- हार के डर से रद्द किए छात्रसंघ चुनाव
छात्रनेता अरविंद जाजड़ा ने CM गहलोत पर लगाया आरोप, बोले- हार के डर से रद्द किए छात्रसंघ चुनाव
social share
google news

Jaipur News: राजस्थान (Rajasthan) में छात्रसंघ चुनाव (Rajasthan Student Union Election) पर बैन लगने के बाद राजनीति में आने वाले युवा छात्र नेताओं को बड़ा झटका लगा है. इसी मुद्दे को भुनाते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने राज्य की कांग्रेस सरकार (Rajasthan Congress) को जिम्मेदार ठहराया है. राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) के विद्यार्थी परिषद से महासचिव अरविंद जाजड़ा (General Secretary Arvind Jajda) ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव (Rajasthan Assembly Elections) से पहले छात्रसंघ चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने एक सर्वें करवाया और उस सर्वें में NSUI की हार होते दिखी. NSUI के उसी हार के डर से छात्रसंघ चुनाव पर रोक लगी. उन्हें डर था कही NSUI छात्रसंघ चुनाव हार जाती है तो विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पर इसका विपरीत असर पड़ेगा.

राजस्थान तक से खास बातचीत करते हुए अरविंद जाजड़ा ने कहा कि सीएम अशोक गहलोत छात्र राजनीति से आगे आकर ही आज मुख्यमंत्री बने हैं और उन्होंने NSUI की हार के डर से छात्रसंघ चुनाव पर फिर से रोक लगा दी. जो सही नहीं है. राजस्थान में पिछले 10 सालों से NSUI हार रही है और ABVP एक जुट होकर चुनाव जीत रही है.

खुद को प्रमोट करवाने के लिए धन बल का इस्तेमाल करते हैं नेता

अरविंद जाजड़ा ने सीएम की बात का समर्थन करते हुए आगे कहा कि मुख्यमंत्री सही बोलते हैं कि विधायकों और सांसदों की तरह छात्रसंघ चुनाव में धन-बल लगता है, लेकिन यह नेता अपने आप को प्रमोट करने के लिए अपने समर्थित छात्र नेताओं को खुद धन बल देकर आगे बढ़ाने का काम करते हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

NSUI से बागी स्टूडेंट कर रहे प्रदर्शन 

अरविंद जाजड़ा ने कहा कि NSUI प्रदर्शन करने के बजाय आगे आकर सरकार से छात्रसंघ चुनाव की मांगे करें. यह जो प्रदर्शन हो रहे हैं यह NSUI के बैनर तले नहीं बल्कि NSUI से नाराज बागी छात्र नेता कर रहे है. हालांकि BJP राज में भी लगे छात्र संघ चुनाव पर बैन पर उन्होंने कहा कि, हम BJP और कांग्रेस किसके भी समर्थन में नहीं है और हमने उसकी भी निंदा की है, हमें छात्र हित में काम करना है.

सस्ती लोकप्रियता के लिए प्रदर्शन

वहीं छात्र नेताओं द्वारा पेट्रोल डालकर, अर्थी पर लेटकर और पानी की टंकी पर चढ़कर जानलेवा प्रदर्शन के तरीकों पर अरविंद ने कहा कि यह सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं, जो गलत है. यदि आगे उन छात्रों पर मुकदमे लग गए तो पछतावा होगा. यही नहीं आने वाले विधानसभा चुनाव में यही युवा कांग्रेस को आयना दिखाएगा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: छात्रसंघ चुनाव करवाने के लिए हर हथकंडा अपना रहे राजस्थान के छात्र, आंदोलन हुए उग्र!

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT