सड़क की सफाई करने वाली ने RAS क्रैक कर सुर्खियां बटोरी, अब हो गई गिरफ्तार

Bharat Bhushan

ADVERTISEMENT

तस्वीर: आशा कंडारा के इंस्टा से.
social share
google news

राजस्थान (Rajasthan news) की एक ऐसी सक्सेज स्टोरी जो खूब चर्चा में रही. अब उस सफलता की कहानी गढ़ने वाली आशा कंडारा गिरफ्तार हो गई हैं. ये वही आशा कंडारा हैं जो कभी सड़कों की सफाई किया करती थीं. यानी सफाईकर्मी की पोस्ट से आशा ने RAS परीक्षा पास किया. आज सफाईकर्मी की नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से पैसे ऐंठ रही थीं. एसीबी (anti corruption bureau) की टीम ने आशा की कार से एक लाख 75 हजार रुपए बरामद किया है. 

एंटी करप्शन ब्यूरो ने यह कार्रवाई पाली के जैतारण-बर रोड पर स्थित शीतल होटल में की. यहां घूस लेते पकड़ी गई आशा कंडारा को सफाईकर्मी के पद से निलंबित कर दिया है. आशा के साथ उसके बेटे ऋषभ और दलाल योगेंद्र चौधरी को भी पकड़ा गया है. अब आप कहेंगे कि RAS परीक्षा क्रैक करने वाली सफाईकर्मी क्यों थी?

क्यों पकड़ी गई आशा

आरोप है कि आशा कंडारा सफाई कर्मियों में भर्ती करवाने के नाम पर लोगों से रिश्वत लेती थी और इस बात की भनक एसीबी को लग गई. मंगलवार की रात को आशा कंडारा जयपुर से पाली के लिए निकली थी. जैतारण स्थित शीतल होटल में आशा कंडारा का बेटा ऋषभ और दलाल योगेंद्र चौधरी पैसे लेकर पहले से मौजूद थे. जब आशा होटल शीतल पहुंची तो एसीबी की टीम ने दबिश दी और तीनों को रंगे हाथों पकड़ लिया. एसीबी की जानकारी के मुताबिक सफाईकर्मी की भर्ती में नौकरी लगाने का सौदा करीब 3 लाख 50 हजार में तय हुआ था. वहीं, कार की तलाशी में रिश्वत के 1 लाख 75 हजार रुपए नगद बरामद हुए. 

ये है आशा कंडारा की पूरी कहानी

जोधपुर की रहने वाली आशा कंडारा की शादी सामाजिक और पारिवारिक दबाव के कारण 12वीं पास करने के बाद ही  1997 में हो गई. आशा के परिवार में पढ़ाई को सपोर्ट किया जाता था पर ससुराल में ऐसा नहीं था. 32 साल की उम्र तक उनके दो बच्चे हुए फिर उन्होंने 2005 में कथित तौर पर तलाक लेकर फिर 2013 से पढ़ाई शुरू की. वर्ष 2018 में इन्होंने RAS की परीक्षा दी क्योंकि उम्र ज्यादा होने पर तलाकशुदा महिलाओं को इसमें उम्र में छूट दी गई. इनका प्री एग्जाम क्लीयर हो गया और मेन्स देकर रिजल्ट का इंतजार करने लगीं. इसी बीच नगर निगम में सफाईकर्मी के लिए दिए गए एग्जाम का रिजल्ट 2019 में आ गया और दो बच्चों की परवरिश के दबाव के कारण इन्होंने इसे ज्वॉइन कर लिया. 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सड़क पर झाड़ू लगाने वाली ने क्रैक कर लिया RAS

उधर मेन्स का रिजल्ट भी आ गया. मेन्स क्लीयर होने पर इंटरव्यू में बैठीं और आरएएस परीक्षा में 728वां रैंक हासिल की. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ये अपने तलाक का सर्टिफिकेट नहीं दिखा पाईं जिससे इन्हें ज्वॉनिंग नहीं मिली. आशा कंडारा आज भी सफाईकर्मी हैं और जयपुर हेरिटेज नगर निगम के वार्ड नंबर 19 में कार्यरत हैं.

यह भी पढ़ें:

Video: दुनिया के इस विलुप्तप्राय जीव को अंडे से जन्म लेते देखिए, राजस्थान में तेजी से बढ़ रही इनकी संख्या
 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT