REET में डमी कैंडिडेट बैठाने वाला आरोपी से पुलिस की गिरफ्त में, कोटा में रहकर बेरोजगारों को यूं फंसता था 

मनोज तिवारी

ADVERTISEMENT

REET
REET
social share
google news

REET Exam Rajasthan: राजस्थान में रीट (REET) परीक्षा में हुई धांधली को लेकर पुलिस लगातार एक्शन ले रही है. अब पुलिस ने REET सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में पैसे लेकर डमी कैंडिडेट बैठाने वाले मोस्ट वांटेड हनुमान मीणा से कई राज उगलवा रही हैं. आरोपी हनुमान टोंक जिले के बिलौता गांवा रहने वाला है और कोटा में राजस्व विभाग में नौकरी करता था. हनुमान मीणा रीट में चीट उजागर होने के बाद से फरार चल रहा था जिसकी गिरफ्तारी पर एसओजी ने 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था 

एसओजी ने धर दबोचा था 

SOG की टीम ने हनुमान मीणा को लगभग एक महीने पहले गिरफ्तार किया था. जिसके बाद से लगाातार पूछताछ चल रही है. हनुमान मीणा का रिमांड पूरा हेने के बाद जयपुर जेल में रखा गया था, जहां से टोंक जिला पुलिस टोंक जिले में दर्ज एक प्रकरण के सिलसिले में प्रोडेक्शन वारंट के तहत टोंक लाई है.

जांच अधिकारी ने क्या बताया

जांच अधिकारी एएसपी गीता चौधरी नें बताया कि कोर्ट से हनुमान मीणा को 4 दिन के रिमांड पर रखने की परमिशन मिली है. पुलिस का मानना है कि हनुमान ने ना सिर्फ टोंक में परीक्षाओं के दौरान डमी केंडिडेट   बिठाए थे बल्कि पूरे राजस्थान में कई लोगों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में डमी केंडिडेट बैठा नौकरी दिलवा चुका है, ऐसे में रिमांड अवधि के दौरान उससे कई ओर लोगों के नाम सामने आ सकते हैं. बिलोता गांव निवासी रामलाल मीणा को आरपीएससी द्वारा दस्तावेज जांच में पकड़े गये रामलाल मीणा के खुलासे के बाद गिरफ्तार किया गया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कोटा में रहकर बनाया नेटवर्क

हनुमान मीणा कोटा में रहकर बेरोजगार युवाओं को अपना टारगेट बनाता था और परीक्षा में धांधली कर उन्हें पास करने के लिए पैसे लेता था. जांच अधिकारी एएसपी गीता चौधरी ने हनुमान मीणा से पूछताछ के लिये सीजेएम कोर्ट में सात दिनों का रिमांड मांगा था लेकिन हनुमान के वकील द्वारा रिमांड की अवधि को लेकर जतायी गयी. आपत्ती के बाद उसे चार दिन के पुलिस रिमांड पर सोंपा गया है.

वकील ने लगाया आरोप

वहीं आरोपी हनुमान के वकील नारायण सिंह ने कहा कि वह न्यायपालिक पर पूरा भरोसा है. वहीं SOG को लेकर कहा कि वह बड़ी मछलियों को पकड़ने की जगह छोटे-मोटे लोगों को पकड़ वाह-वाही लूट रही है. उन्होंने कहा कि जयपुर में गिरफ्तारी के बाद रिमांड अवधि के दौरान पुलिस किसी भी तरह का राज नहीं उगलवा पाई है.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT