आलाकमान के सामने होगी गहलोत-पायलट की पेशी! पायलट की मांग होगी पूरी?

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Gehlot Pilot muscle will be in front of the high command! Will the demand of the pilot be fulfilled

social share
google news

इक चिंगारी आग लगा जाती है बन में और कभी, एक किरन से ज़ुल्मत को छट जाना पड़ता है। जी हां, सचिन पायलट के अल्टीमेटम की तारीख में अब महज 3 दिन का वक्त रह गया है। ऐसे में यदि उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो राजस्थान कांग्रेस में जो तूफान आएगा, उसी को रोकने के लिए अब कांग्रेस आलाकमान बेदह गंभीर है। सीएम गहलोत और पायलट के बीच विवाद सड़कों पर नहीं आए इससे पहले ही कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे ने सोमवार को दिल्ली में दोनों नेताओं से अलग-अलग बैठकर बात करने का फैसला किया है। सहमति बनने के बाद सोनिया गांधी के सामने दोनों नेताओं को पेश कर एकता के सूत्र में रहकर विधानसभा और लोकसभा का चुनाव में जीत का संकल्प कराए जाने की रणनीति तैयार की जा रही है। 

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

गौरतलब है कि गांधी परिवार ने इस बात के स्पष्ट निर्देश दे दिए है कि सचिन पायलट को नई जिम्मेदारी दी जाएगी। उसको स्वीकार कर सीएम गहलोत को विधानसभा और लोकसभा चुनाव एक साथ लड़ने की नीति पर काम करना पड़ेगा। सीएम गहलोत ने प्रभारी सुखविंदर सिंह रंधावा के माध्यम से कुछ आपत्तियां राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे तक पहुंचाई है जिससे वो अपने गुट के विधायकों को यह विश्वास दिला सके कि सरकार के साथ देने वाले विधायकों के साथ न्याय होगा। 

ADVERTISEMENT

सीएम गहलोत और सचिन पायलट के साथ ही उनके समर्थित नेता और कार्यकर्ताओं को स्पष्ट निर्देश दिए जाएंगे कि भविष्य में दोनों एक दूसरे के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर बयानबाजी को बंद करना होगा। कर्नाटक में कांग्रेस की जीत का सूत्र अब राजस्थान में भी काम में लिया जाएगा। यह बात स्पष्ट नजर आ रही है कि दोनों नेताओं में आपसी गतिरोध दूर किया जाए और सार्वजनिक तौर पर यह घोषणा की जाए कि केंद्रीय नेतृत्व जो भी दिशा-निर्देश देगा दोनों नेता बिना किसी विवाद के उसकी पालना करेंगे।

ADVERTISEMENT

केंद्रीय नेतृत्व के दिशा निर्देश के अनुसार ही संगठन में बदलाव शुरू हो गया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने 85 नए सचिव बनाने की सूची जारी कर दी है। अब यह भी माना जा रहा है कि शीघ्र सीएम गहलोत और पायलट की सहमति के बाद में जिला अध्यक्षों की घोषणा भी कर दी जाएगी। संगठन व्यापक और मजबूत बने इसका ध्यान रखा जा रहा है। 

A single spark sets fire to the forest and sometimes, a single ray makes the oppression go away. Yes, only 3 days are left for the date of Sachin Pilot’s ultimatum. In such a situation, if their demands are not fulfilled, then the Congress high command is now very serious to stop the storm that will come in Rajasthan Congress. Even before the dispute between CM Gehlot and Pilot did not come on the streets, Congress National President Mallikarjun Kharge has decided to sit separately with both the leaders in Delhi on Monday. After the consensus is reached, a strategy is being prepared to present both the leaders in front of Sonia Gandhi and take a pledge of victory in the Assembly and Lok Sabha elections by following the thread of unity.

Significantly, the Gandhi family has given clear instructions that Sachin Pilot will be given a new responsibility. Accepting that, CM Gehlot will have to work on the policy of contesting assembly and Lok Sabha elections together. CM Gehlot through in-charge Sukhwinder Singh Randhawa has conveyed some objections to National President Mallikarjun Kharge so that he can assure the MLAs of his faction that justice will be done to the MLAs supporting the government.

CM Gehlot and Sachin Pilot as well as their supported leaders and workers will be given clear instructions that in future both will have to stop making public statements against each other. The formula of Congress victory in Karnataka will now be used in Rajasthan also. It is clearly visible that the deadlock between the two leaders should be removed and it should be announced publicly that both the leaders will follow the directions given by the central leadership without any dispute.

Changes have started in the organization as per the guidelines of the central leadership. Congress State President Govind Singh Dotasara has released the list of making 85 new secretaries. Now it is also believed that soon after the consent of CM Gehlot and Pilot, the district presidents will also be announced. Care is being taken to make the organization broad and strong.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT