Video: राजस्थान का ऐसा अनोखा गांव, जहां हर हाथी के पास है अपना फ्लैट और स्‍वीम‍िंग पूल

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

जयपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर आमेर किले के पास ही हाथी गांव बसा हुआ है जहां उनके लिए तमाम सुविधाएं हैं.

social share
google news

आपने इंसानों के लिए बसाई गई कॉलोनियां और गांव तो देखे हैं लेकिन, क्या आपने कभी ऐसे गांव के बारे में सुना है जो सिर्फ हाथियों (elephant village) के लिए बसाया गया हो. आज हम आपको राजस्थान के ऐसे गांव के बारे में बता रहे हैं जो केवल हाथियों के लिए बसाया गया है. यहां करीब 80 हाथी रहते हैं जिनके लिए बाकायदा 1 BHK, 2 BHK जैसे क्वार्टर भी बने हैं. यही नहीं, हाथियों के लिए यहां अस्पताल और स्वीमिंग पूल जैसी लग्जरी (Luxury facilities for elephant) सुविधाएं भी हैं.

जयपुर से तकरीबन 20 किलोमीटर दूर आमेर किले के पास ही हाथी गांव बसा हुआ है. यहां पर्यटक हाथी सफारी का आनंद लेने आते हैं. इससे पर्यटक न केवल सफारी का लुत्फ उठा पाते हैं बल्कि उन्हें हाथियों की जीवनशैली को पास से जानने का भी मौका मिलता है.  

हाथियों को मिलती है छुट्टियों की सुविधा

इंसानों की तरह लक्ष्मी, चमेली, रूपा, चंचल जैसे हाथियों के नाम भी होते हैं और उन्हें नाम से ही पहचाना जाता है. इसके अलावा इनकी विशेष पहचान के लिए हाथियों के कान के नीचे माइक्रोचिप भी लगाई गई है. मौसम के हिसाब से इन्हें महीने में 15 दिन की छुट्टी भी मिलती है और सर्दी-गर्मी और बरसात के हिसाब से इन्हें खाना दिया जाता है. 

2010 में घोषित हुआ था हाथी गांव

देश आजाद होने के बाद जब आमेर फोर्ट को सरकार ने आम लोगों के लिए खोला तो यहां हाथी सवारी लोगों के बीच बहुत ज्यादा लोकप्रिय हो गई. ऐसे में आमेर के पास दिल्ली रोड पर एक गांव में हाथियों के रखने की व्यवस्था की गई. राज्य सरकार ने इस गांव में हाथियों की बढ़ती संख्या को देखकर इसे 2010 में हाथी गांव घोषित कर दिया. 

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT