राजस्थान में पकड़ा गया 30 लाख का डोडा पोस्त, वोटर्स को बांटने की थी तैयारी!

Dinesh Bohra

ADVERTISEMENT

राजस्थान में चुनाव से पहले पुलिस ने उड़ाई नेताओं की नींद, वोटरों को लुभाने के लिए लाया जा रहा 30 लाख का डोडा पोस्त आबकारी ने पकड़ा
राजस्थान में चुनाव से पहले पुलिस ने उड़ाई नेताओं की नींद, वोटरों को लुभाने के लिए लाया जा रहा 30 लाख का डोडा पोस्त आबकारी ने पकड़ा
social share
google news

Excise seized poppy seeds worth Rs 30 lakh: राजस्थान में अक्सर चुनाव (rajasthan assembly election) से पहले वोटर्स को लुभाने के लिए डोडा पोस्त जैसे नशीले पदार्थ बांटे जाते हैं. लेकिन आबकारी विभाग की कार्रवाई ने नेताओं की नींद उड़ाकर रख दी है. चुनाव में नेताओं की खपत पूरी करने के लिए तस्कर डोडा पोस्त के स्टॉक की फिराक में लगे हुए हैं. पिछले एक महीने में राजस्थान के बाड़मेर (barmer news) और बालोतरा में 1 करोड़ रुपये के डोडा पोस्त के साथ तस्करों को दबोचा गया है.

एक बार फिर गुरुवार रात को तस्करों ने 30 लाख का डोडा पोस्त लेकर बाड़मेर में एंट्री की ही थी कि तस्करों का ट्रक आबकारी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. हालांकि, ट्रक ड्राइवर रात के अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग निकला. घटना बाड़मेर जिले के सिणधरी थाना क्षेत्र के सरनु चिमनजी गांव की है.

आबकारी विभाग की टीम को देखकर मौके से भाग गया ट्रक ड्राइवर

बाड़मेर आबकारी विभाग की टीम ने गुरुवार रात सिणधरी क्षेत्र के सरनू चिमनजी गांव में हाइवे पर बिना किसी सूचना के रूटीन नाकाबंदी करवाई थी. इस दौरान टीम सिणधरी की ओर जा रहे ट्रक को रुकवाने का इशारा करती इससे पहले ही ड्राइवर ट्रक छोड़कर मौके से भाग गया. आबकारी विभाग की टीम ने जब ट्रक की तलाशी ली तो ट्रक में सीमेंट के कट्टों की आड़ में डोडा पोस्त ले जाया जा रहा था. इसके बाद टीम ने ट्रक को कब्जे में लेकर कार्यालय में खड़ा करवाया है.

50 कट्टों में भरा था 30 लाख का अवैध डोडा पोस्त

आबकारी पुलिस के मुताबिक ट्रक की तलाशी लेने पर काले प्लास्टिक के 50 कट्टों में 1015 किलो 560 ग्राम अवैध डोडा पोस्त पाया गया. पकड़े गए डोडा पोस्त की अनुमानित कीमत करीब 30 लाख रुपए है. विभाग की टीम ने ट्रक और डोडा पोस्त को जब्त कर लिया है. वहीं आबकारी विभाग की टीम अब ट्रक नंबर के आधार पर ड्राइवर की तलाश में जुट गई है.

वोटर्स को लुभाने के लिए बांटे जाते हैं नशीले पदार्थ

राजस्थान में पंचायतीराज चुनाव हो या विधानसभा चुनाव हो, अमूमन यह देखा गया है कि नेता वोटर्स को लुभाने के लिए अवैध शराब से लेकर डोडा चूरा, अफीम समेत मादक पदार्थ बांटते हैं. ताकि, उन वोटर्स को लुभाकर वोट हासिल किए जा सकें. विधानसभा चुनाव में महज 2 महीने का ही वक्त बचा है. उससे पहले ही तस्कर मादक पदार्थों को स्टॉक करने में जुट गए हैं. लेकिन, पुलिस और आबकारी विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई से नेताओं की भी नींद उड़ी हुई है.
यह भी पढ़ें: भरतपुर: शादी कर दुल्हन को घर ले जा रहे दूल्हे की बीच रास्ते में खुली पोल!

यह भी पढ़ें...

follow on google news
follow on whatsapp

ADVERTISEMENT