भोले बाबा का राजस्थान के अलवर से भी है गहरा नाता, सामने आई ये चौंकाने वाली बात

Himanshu Sharma

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

हाथरस कांड (Hathras Stampede) के बाद भोले बाबा (Bhole Baba) के नाम से मशहूर नारायण साकार उर्फ सूरजपाल लगातार चर्चाओं में है. अब उनका राजस्थान के अलवर जिले से भी खास कनेक्शन सामने आया है. अलवर में भी उनका आश्रम है जो जिले के खेड़ली इलाके के सहजपुरा गांव में है. सहजपुरा गांव में बाबा का करीब डेढ़ बीघा जमीन पर आश्रम बना हुआ है. उसमें बाबा के सेवक रहते हैं. यहां लगातार सत्संग होते थे जिनमें हजारों श्रद्धालु आते रहते थे.

कोरोना काल के दौरान भोले बाबा अलवर (Alwar News) के इस आश्रम में करीब 10 महीने तक रहे थे. अलवर व खेड़ली में उनके हजारों की संख्या में अनुयायी हैं. हाथरस की कथा को सुनने के लिए भी यहां से सैकड़ों लोग गए थे.

दौसा में भी है बाबा का विशाल आश्रम

भोले बाबा का पहले भी राजस्थान कनेक्शन सामने आ चुका है. उनका दौसा में भी विशाल आश्रम है. वह पेपर लीक माफिया के घर पर बना हुआ है. उस आश्रम पर पेपर लीक केस की जांच कर रही एसओजी ने जब दबिश दी तो वहां महिला सेवादारों के कई फॉर्म बिखरे हुए मिले हैं. 

पेपर लीक माफिया भी था बाबा का भक्त

बताया जा रहा है कि पेपर लीक का आरोपी भी बाबा का भक्त था. जयपुर-आगरा हाईवे के पास गोविंद कॉलोनी में स्थित इस अस्थायी आश्रम के गेट पर बाबा का बोर्ड लगा रहता था. इसपर लिखा था नारायण साकार हरि की संपूर्ण ब्रह्मांड में सदा-सदा के लिए जय-जयकार हो. पेपर लीक माफिया हर्षवर्धन भी बाबा का भक्त था. 

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT