कोटा में स्टूडेंट ने रची खुद के किडनैपिंग की कहानी, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

चेतन गुर्जर

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

कोटा (Kota News) के एक स्टूडेंट ने खुद के ही किडनैपिंग (Kidnapping in Kota) की कहानी रच दी. वह बिना बताए घर से गायब हो गया और घरवालों से 2 लाख रुपये की फिरौती मांगी. हालांकि जब मामले का खुलासा हुआ तो हर कोई इसकी वजह जानकर हैरान रह गया. मामला कोटा के रानपुर इलाके का है. 

छात्र फर्स्ट ईयर में है और पटवारी भर्ती की तैयारी कर रहा था. पुलिस ने छात्र की योजना को 24 घंटे के भीतर फेल करते हुए उसे जयपुर रेलवे स्टेशन (Jaipur Railway Station) पर हिरासत में ले लिया और बुधवार शाम को उसके माता-पिता के सुपुर्द कर दिया. 

 

 

2 जुलाई को दर्ज हुई थी शिकायत

पुलिस अधीक्षक शहर डॉ. अमृता दुहन ने बताया कि 2 जुलाई को जगपुरा कोटा के रहने वाले भोजराज ने थाना रानपुर में शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में कहा गया था कि उनका बेटा घर से बिना बताए गायब हो गया है. इस मामले में केस दर्ज करने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो हैरान करने वाली कहानी समझ में आई.

पुलिस ने ऐसा खोला राज़

गुमशुदा छात्र के पिता ने पुलिस को फोटोग्राफ एवं मेसेज उपलब्ध करवाते हुए बताया कि मेरे बेटे सूरज के व्हाट्सअप नम्बर से अज्ञात व्यक्ति फोटो भेज रहा है जिसमें सूरज का मुंह रूमाल से बंधा हुआ और हाथ पीछे की तरफ बंधे हुए है. इस पर पुलिस ने तकनीकी संसाधनों से पता लगाकर 24 घंटे के अन्दर 3 जुलाई को सूरज को जयपुर रेलवे जंक्शन से हिरासत में ले लिया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सामने आई ये चौंकाने वाली वजह

जब पुलिस ने सूरज गोचर से किडनैपिंग की घटना के बारे में पूछताछ की तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई. सूरज गोचर ने इंस्टाग्राम ऐप पर ऑनलाईन गेम का विज्ञापन देखकर ऑनलाईन मंत्री मोल गेम खेलना शुरू किया था. उस गेम में उसने 40,000 रुपये गंवा दिए थे. हार जाने पर सूरज ने 'क्राइम पेट्रोल' देखकर खुद की किडनैपिंग का पूरा प्लान बनाया. वह कोटा से जयपुर गया और एक हॉस्टल में रुका. फिर खुद के फोन से फोटो लेकर अपने परिजनों के व्हाट्सअप नम्बर पर फोटो भेज कर चेटिंग करते हुए 2 लाख रुपये फिरौती मांगी. हालांकि पुलिस ने समय रहते पूरे मामले का खुलासा कर दिया. 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT