फतेहपुरः कुएं में मिला नाबालिग का शव, परिजनों ने दर्ज करवाया मुकदमा, क्या है मामले की सच्चाई?

Rakesh Gurjar

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Gangrape in Fatehpur: फतेहपुर-शेखावाटी (fatehpur) में नाबालिग का शव कुएं में मिलने के बाद लोगों में आक्रोश गहरा गया. घटनास्थल पर ही आक्रोशित लोगों ने बवाल खड़ा कर दिया. बाद में अस्पताल में सभी धरने पर बैठ गए. इनकी मांग थी कि आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए. साथ ही 10 लाख का मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए. परिजनों ने इस मामले में सामूहिक दुष्कर्म (gangrape case) का मामला दर्ज करवाया.

इधर, शनिवार को रात भर ग्रामीण व परिजन छात्रा को गांव में ढूंढ़ते रहे. रविवार सुबह परिजनों ने पुलिस को सूचना दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने पूरा गांव और पास का जंगल छान मारा, लेकिन छात्रा नहीं मिली. इस बीच कुओं में भी तलाश की जा रही थी. बाद में किसी ग्रामीण की नजर एक कुएं में शव पर पड़ी. जिसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी.

जैसे ही नाबालिग का शव कुएं में होने की सूचना मिली तो पूरे गांव के लोग, युवा, बुजुर्ग सहित महिलाएं कुएं के पाए एकत्रित हो गए. पुलिस ने करीब 12.30 बजे शव निकाला. शव को पोस्टमार्टम के लिए हॉस्पिटल ले गए. घटना की सूचना मिलने के बाद मोर्चरी के बाहर दोपहर एक बजे से शाम 5 बजे तक धरना व उग्र प्रदर्शन चला. ग्रामीणों ने राज्य सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस दौरान सैकड़ों ग्रामीण और जनप्रतिनिधि हॉस्पिटल के बाहर एकत्रित हो गए.

प्रशासन ने की समझाइश

ग्रामीणों की ओर से धरना प्रदर्शन करने की सूचना मिलने पर अधिकारियों ने समझाइश की. मृतका के परिजनों ने दोषियों के खिलाफ पॉक्सो में मामला दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने और आरोपियों को सहयोग करने वाले अन्य लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग रखी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

वहीं, 10 लाख का मुआवजा दिलवाने, कठोर धाराओं में मामला दर्ज कर निष्पक्ष जांच करने और परिजनों को सरकारी नौकरी के लिए सरकार को अभिशंषा करने का आश्वासन दिया. परिजनों ने इसके बाद धरना समाप्त कर दिया. पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव मोर्चरी में रखवा दिया है. सोमवार को सुबह शव परिजनों को सौंपा जाएगा.

मृतका के परिजनों ने एक युवक, दो नाबालिग सहित अज्ञात सहयोगियों के खिलाफ नाबालिग का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म, ब्लैकमेल करने और कुंए में डालकर हत्या करने का मामला दर्ज करवाया है. पुलिस ने पॉस्को एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है.

ADVERTISEMENT

थानाधिकारी ने खुद कुएं से निकाला शव

जैसे ही ग्रामीणों ने पुलिस को कुएं में शव होने की सूचना दी. पुलिस टीमें व अधिकारी मुस्तैद हो गए. 170 फीट गहरे कुएं में से कोई भी शव निकालने के लिए तैयार नहीं हुआ. थानाधिकारी ने स्वयं कुएं में उतरकर शव को बाहर निकाला. इससे पहले भी कई मामले सामने आए है. जब सीकर शहर में सामुहिक दुष्कर्म कर एक लड़की को कार से फैंक दिया था. वहीं, एक कब्रिस्तान में बच्ची के साथ ज्यादती कर उसे पत्थर से कुचल कर मार दिया था.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ेंः भरतपुर में पुलिस अधिकारी का थाने में महिला संग ये सब करते फोटो Viral, हुई कार्रवाई

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT