शिक्षा मंत्री दिलावर ने दिव्यांग शिक्षक से पूछा अकबर के नानाजी का नाम, 60 किमी दूर से घर के पास दी पोस्टिंग

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: राजस्थान सरकार में शिक्षा मंत्री मदन दिलावर (education minister madan dilawar) अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहते हैं. एक बार फिर से उनका एक वीडियो वायरल हो गया है. दरअसल, 30 जून को वह एक दिवसीय दौरे पर जालोर पहुंचे थे. इस दौरान दिव्यांग शिक्षक मंसाराम देवासी शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के पास अपनी फरियाद लेकर पहुंच गए. शिक्षा मंत्री ने दिव्यांग शिक्षक से ऐसा सवाल पूछ लिया कि इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

शिक्षा मंत्री ने दिव्यांग शिक्षक से पूछा था कि आपने कहां तक पढ़ाई की है तो उन्होंने बताया कि वह बीए पास हैं. इसके बाद जब दिलावर को पता चला कि उनके पास बीए में इतिहास विषय रहा है तो उन्होंने दिव्यांग शिक्षक से पूछा- "अकबर के नानाजी का नाम याद है?"

शिक्षा मंत्री ने दिए मनचाही पोस्टिंग के आदेश

मंत्री दिलावर ने दिव्यांग अध्यापक की मांग पर उसे तत्काल मनचाही जगह लगाने के आदेश जारी कर दिए. मंसाराम देवासी तृतीय श्रेणी के अध्यापक हैं. उनकी पोस्टिंग घर से 60 किलोमीटर दूर थी जिससे उन्हें आने-जाने में परेशानी होती थी. मंसाराम देवासी 100% नेत्रहीन दिव्यांग हैं. आंखों से उन्हें बिल्कुल भी दिखाई नहीं देता है. जब उन्होंने अपनी समस्या शिक्षा मंत्री मदन दिलावर को बताई तो उन्होंने तुरंत मनचाही पोस्टिंग के आदेश दे दिए.

आदिवासियों पर बयान को लेकर अब भी जारी है विवाद 

बीते दिनों मदन दिलावर ने कहा था कि आदिवासी हिंदू हैं या नहीं, इसका डीएनए टेस्ट करवा लेंगे. दिलावर के इस बयान के बाद राजस्थान में राजनीति तेज हो गई. दिलावर के बयान पर पलटवार करते हुए राजकुमार रोत ने 22 जून को आदिवासियों का डीएनए टेस्ट करने के लिए खून का सैंपल शिक्षा मंत्री के सरकारी आवास पर भिजवाने की बात कही. इसके बाद शनिवार को रोत डीएनए टेस्ट के लिए अपना ब्लड सैंपल लेकर मदन दिलावर के घर जा रहे थे. लेकिन उन्हें विधानसभा के सामने ही पुलिस ने रोक दिया.

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT