क्या किरोड़ीलाल मीणा वापस लेंगे अपना इस्तीफा! सामने आया पत्नी गोलमा देवी का बड़ा बयान

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan Politics: लोकसभा चुनाव में दौसा सीट (Dausa Loksabha Seat Result) से बीजेपी की हार के बाद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. इसको लेकर प्रदेश में जमकर सियासत हो रही है. चर्चाएं ये भी हैं कि किरोड़ीलाल मीणा इस्तीफा वापस ले सकते हैं. वहीं कुछ लोग कह रहे हैं कि किरोड़ीलाल मीणा (Kirodilal Meena Resignation) बड़ा पद नहीं मिलने से पार्टी से नाराज थे, इसलिए उन्होंने इस्तीफा दिया. अब इन सब चर्चाओं के बीच किरोड़ीलाल मीणा की पत्नी गोलमा देवी का बड़ा बयान सामने आया है.

पूर्व मंत्री गोलमा देवी (Golma Devi) ने एक इंटरव्यू में कहा है कि "कुछ लोग अफवाहें फैला रहे हैं कि बड़े पद की लालसा में डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा ने इस्तीफा दिया है. लेकिन ऐसा नहीं है. किरोड़ीलाल मीणा वसुंधरा सरकार में भी इस्तीफा दे चुके हैं, तब भी इस्तीफा वापस नहीं लिया था. उनके लिए विधायक और मंत्री पद कोई मायने नहीं रखता है."

इस वजह से दिया किरोड़ी ने इस्तीफा 

लोकसभा चुनावों के दौरान डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा था कि अगर बीजेपी उम्मीदवार दौसा सीट हारा तो वे मंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे. इसके बाद उन्होंने घोषणा की थी कि पीएम मोदी ने उन्हें 7 सीटों की जिम्मेदारी दी है. इन सीटों में से अगर एक भी सीट पर बीजेपी हारी तो वह मंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे. इन सात सीटों में से बीजेपी 4 सीटें हार गई जिनमें दौसा, करौली-धौलपुर, टोंक-सवाई माधोपुर और भरतपुर सीट शामिल है. इन सीटों पर बीजेपी की हार के बाद से किरोड़ीलाल मीणा के इस्तीफे की लगातार मांग की जा रही थी.

रिजल्ट के दिन लिखा था- प्राण जाए पर वचन न जाई

लोकसभा चुनावों के रिजल्ट के दौरान बीजेपी को हारते देख किरोड़ीलाल मीणा ने सोशल मीडिया पर इस्तीफे के संकेत दे दिए थे. उन्होंने सोशल मीडिया पर रामचरित मानस की चौपाई पोस्ट की थी. उन्होंने लिखा था, "रघुकुल रीत सदा चली आई, प्राण जाए पर वचन न जाई." अब किरोड़ी ने वही करके दिखाया है जैसा उन्होंने दावा किया था.

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT