राजस्थान में इन गलतियों की वजह से बीजेपी हारी चुनाव! भजनलाल सरकार में मंत्री ने अपनी ही पार्टी की गिना दी कमियां

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

राजस्थान की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद सियासी सरगर्मी जोरों-शोरों पर है. एक तरफ प्रदेश के नवनिर्वाचित सांसदों के घर बधाई का तांता लगा हुआ है. वहीं, 11 सीटों पर बीजेपी की हार ने हलचल भी तेज कर दी है. उत्तर प्रदेश और फिर राजस्थान में बीजेपी को बड़ा नुकसान होने के चलते लोकसभा में भी पार्टी की संख्या घट गई है. बहुमत से दूर रह चुकी बीजेपी में सुगबुगाहट भी तेज हो गई है. जिसकी गूंज राजस्थान (Rajasthan) में भी सुनाई दे रही है. पिछले दो चुनावों में लगातार 25 सीटें एनडीए की झोली में आने के बाद इस बार तगड़ा झटका झेलने वाली भारतीय जनता पार्टी के लिए अब समीक्षा का वक्त है. इस बीच प्रदेश की भजनलाल (CM Bhajanlal Sharma) सरकार में कैबिनेट मंत्री झाबर सिंह खर्रा का भी बयान जमकर वायरल हो रहा है.

कैबिनेट मंत्री झाबर सिंह खर्रा ने प्रदेश में बीजेपी की हार की वजह भी गिना दी है. मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश में बीजेपी की 11 लोकसभा सीटों पर हार की एक वजह नहीं है. इसके कई कारण है. वहीं, 400 पार के नारे को लेकर विपक्ष पर निशाना भी साधा. 

400 पार का नारा और उसके बाद फैल गया ये भ्रम!

उन्होंने बताया "जब हमने 400 पार का नारा दिया तो विपक्षी दलों ने इसे लेकर भ्रम फैलाया. जिसे हम दूर करने में नाकामयाब रहे. टिकट वितरण में गलतियों और किसानों के मुद्दों को हार का कारण बताया. ये आत्म चिंतन का समय है और हार के कारणों पर केंद्रीय नेतृत्व विचार करेगा." वहीं, मंत्री किरोड़ीलाल मीणा के इस्तीफे वाले बयान को लेकर खर्रा ने कहा कि कोशिश रहेगी कि किरोड़ीलाल मंत्रीमंडल मे बने रहे.

बता दें कि प्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले पूर्वी हिस्से की लोकसभा सीटों पर बीजेपी की जीत का दावा करते हुए किरोड़ीलाल मीणा ने खुद इन सीटों की जिम्मेदारी ली थी. लेकिन इन सीटों पर बीजेपी की हार के बाद अब वह मंत्रीमंडल से इस्तीफा देने की बात कह चुके हैं. जिसके बाद हलचल तेज हो गई है.  

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT