Rajasthan Politics: DNA जांच की बात कहकर फंसे मदन दिलावर! अब बयान से मारी पलटी, बोले - 'मैं भी आदिवासी'

विशाल शर्मा

ADVERTISEMENT

Madan Dilawar
Madan Dilawar
social share
google news

Rajasthan Politics:आदिवासी समाज को लेकर शिक्षा मंत्री मदन दिलावर द्वारा दिए बयान के बाद सियासत कम नहीं हो रही. रविवार को जयपुर में बांसवाड़ा सांसद राजकुमार रोत ने मदन दिलावर के आवास पहुंचकर डीएनए के लिए ब्लड सैंपल देने का प्रयास किया हालांकि उन्होंने पुलिसकर्मियों की मदद से अपना ब्लड सैंपल सौंपा.

जयपुर में मदन दिलावर के घर ब्लड सैंपल देने रवाना हुए सांसद और समर्थकों को पुलिस ने विधानसभा के आगे ही रोक दिया, यहीं पर राजकुमार रोत ने पुलिस के हाथ अपना ब्लड सैंपल सौंपा. इसी बीच पूरे मामले को लेकर शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने एक बार फिर आदिवासियों को लेकर बयान देते हुए कहा कि इस देश में रहने वाले सभी लोग आदिवासी हैं और आदिवासी सबसे श्रेष्ठ है. 

'मैं भी आदिवासी हूं'

रविवार को जयपुर में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद मदन दिलावर ने कहा इस देश में रहने वाले सभी जाति के लोग आदिवासी रहे हैं, इस देश में अनादि काल से रहने वाले लोग आदिवासी हैं और मैं भी आदिवासी हूं. मदन दिलावर ने कहा कि इस देश में रहने वाले ब्राह्मण और राजपूत और सभी वर्ग आदिवासी रहे हैं और आदिवासी हमेशा से ही पूजनीय रहे हैं और देश में रहने वाले सभी आदिवासियों का हम सम्मान करते हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

'सभी लोगों को अपनी बात कहने का हक'

मदन दिलावर ने राजकुमार कुमार रोत द्वारा किए गए प्रदर्शन पर कहा कि देश में सभी लोगों को अपनी बात कहने का हक है. दरअसल शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के आदिवासियों के डीएनए को लेकर दिए गए बयान के बाद मामला गर्मा गया और और राजकुमार रोत बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ शनिवार को अमर जवान ज्योति पहुंचे और इस दौरान कांग्रेस के विधायक सहित तमाम नेता वहां मौजूद रहे, राजकुमार रोत शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के घर ब्लड सैंपल देने जा रहे थे लेकिन इसी बीच पुलिस ने उन्हें रोक दिया इसके बाद उन्होंने कहा कि यह मामला विधानसभा और संसद तक उठाया जाएगा. 

ये बयान देकर विवादों में आए

बता दें कि पहले शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने अपने एक बयान में कहा था कि जो आदिवासी खुद को हिंदू नहीं मानते उन्हें डीएनए टेस्ट करवा लेना चाहिए कि उनका बाप कौन है. जिसके बाद मामला काफी गरमा गया और आदिवासी पार्टी ने इस बयान पर आपत्ति जताते हुए मदन दिलावर से माफी मांगने को कहा गया. इसके बाद शनिवार को आदिवासी पार्टी की ओर से विरोध प्रदर्शन कर शिक्षा मंत्री से इस्तीफा की मांग रखी.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT