खुद के सामने सीएम बनने के नारे लगते देख सचिन पायलट ने दे दी पार्टी को ये हिदायत

Dev Wadhawan

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan News: कांग्रेस नेता और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने प्रदेश वासियों को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि होली का त्योहार पूरे देश में रंगों, खुशियों, भाईचारे, प्रेम और सद्भावना का त्योहार है. इस बार भी सब लोग इस त्योहार में बढ़-चढ़कर शामिल होंगे. त्योहार की खुशियों के बाद पूरा साल हमारे लिए चुनौतीपूर्ण है. बहुत से राज्यों में चुनाव है. राजस्थान में भी चुनाव है, मध्य प्रदेश में भी चुनाव है इसलिए मुझे लगता है कि सब लोगों की ताकत केंद्रित करनी पड़ेगी तथा सरकार रिपीट नहीं होने की परिपाटी को तोड़ना पड़ेगा. जब सचिन पायलट से पूछा गया कि जब आप बोल रहे थे तब लोग नारे लगा रहे थे कि हमारा सीएम कैसा हो सचिन पायलट जैसा हो, क्या लोगों की ये मांग पूरी होने वाली है? तो इस पर उन्होंने कहा कि राजनीति में वही होता है जो जनता चाहती है. जनता को जो आदेश है वो सर्वोपरि होता है.

‘आज तक’ से खास बातचीत में पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि निश्चित रूप से हर संगठन और हर पार्टी जो मजबूती से निर्णय लेती है उसे जनता पसंद भी करती है. मुझे लगता है कि राजस्थान में तमाम संभावनाएं हैं और हम मिलकर काम करेंगे तो लोगों का आशीर्वाद निश्चित रूप से मिलेगा. पिछले आठ साल से केंद्र में जो बीजेपी की सरकार है उसने लगातार लोगों को निराश किया है. राजस्थान में भी बीजेपी में फूट और बिखराव है. पिछले 4.5 साल में वो एक जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका नहीं निभा पाए हैं. जनता इस बात को देख चुकी है. इसलिए भाजपा आपस में ही इतना झगड़ों में फंसी हुई है. मैं यह मानता हूं कि अगर सरकार और संगठन मिलकर काम करेंगे तो यह सरकार रिपीट हो सकती है.

यह भी पढ़ेंः होली से पहले राजस्थान में मौसम ने ली करवट, राज्य के इन हिस्सों में ही हुई बारिश, जानें

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पायलट बोले- अगर पेपर लीक होता है तो युवाओं का मनोबल टूटता है
पेपर लीक पर पायलट ने कहा कि यह बहुत चिंता का विषय है. मैं हमेशा से इस बात को बोलता आया हूं कि जवानों के भविष्य के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता. सरकारें आती-जाती रहेंगी लेकिन जो युवा लड़के-लड़कियों का सिस्टम में विश्वास नहीं रहेगा तो हमारे भविष्य के लिए बहुत बड़ा प्रश्नचिह्न लग जाएगा. मैं हमेशा कहता हूं कि जो भी इस प्रकरण में शामिल रहे, चाहे वो कितना भी बड़ा व्यक्ति हो उन पर कार्रवाई होनी चाहिए. लोगों को लगना चाहिए कि हम जड़ तक पहुंच गए हैं और भविष्य में नहीं होगा. हम बार-बार वादें करते हैं लेकिन फिर भी अगर पेपर लीक होता है तो लोगों का मनोबल टूटता है.

पुलवामा में शहीद हुए जवानों की वीरांगनाओं के साथ पुलिस के दुर्व्यवहार को लेकर उन्होंने कहा कि उनकी जो मांगे हैं उनको पूरा करने के लिए सरकार पूरी कोशिश कर रही है. जो भी नियम, कानून, प्रावधान हैं उसमें सब हो सकता है. लेकिन किसी के साथ अगर बदसलूकी होती है खासकर वो महिलाएं जिन्होंने अपना सब कुछ खो दिया है, तो वो बड़ा गलत है. मैंने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि इसको कभी स्वीकार नहीं किया जा सकता. जो भी लोग इसमें शामिल हैं उन पर कार्रवाई होनी चाहिए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ेंः खूबसूरती पर मत जाइए, इस लेडी इंस्पेक्टर ने किया ऐसा कांड कि सुनकर सन्न रह जाएंगे आप!

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT