Video: राजकुमार रोत ने महेंद्रजीत सिंह मालवीय को चुनाव कैसे हराया, खुद बताया पूरा प्लान

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

आदिवासी समुदाय के कद्दावर नेता महेंद्रजीत सिंह मालवीय को हराकर बाप पार्टी के प्रत्याशी राजकुमार रोत चर्चाओं में हैं.

social share
google news

राजस्थान की बांसवाड़ा सीट से आदिवासी समुदाय के कद्दावर नेता महेंद्रजीत सिंह मालवीय (mahendrajeet singh malviya) को हराकर बाप पार्टी के प्रत्याशी राजकुमार रोत (rajkumar raut) इन दिनों काफी चर्चाओं में हैं. उन्होंने मालवीय को 2 लाख से अधिक मतों से हराकर लोगों को हैरान कर दिया है. इस बीच राजकुमार रोत ने बताया है कि उन्होंने महेंद्रजीत सिंह मालवीय को कैसा चुनाव हराया.

राजकुमार रोत ने बताया कि मैं बहुत कम उम्र में 2 बार विधायक चुना गया, अब सांसद बनने का मौका भी मिला. मैंने दिल से लोगों के लिए मेहनत की और काम किया. उसी का परिणाम रहा कि जनता ने मुझे जिताया. सवाल 4 दशक के करियर वाले प्रतिद्वंदी और मेरी कम उम्र का नहीं है. ना ही मैं इतना ताकतवर हूं. इस लोकतंत्र में व्यक्ति महत्वपूर्ण नहीं है, ताकत तो जनता से मिलती है और लोगों की भावना महत्वपूर्ण होती है.

राजकुमार रोत ने उठाई भील प्रदेश की मांग

चुनाव जीतने के बाद राजकुमार रोत के एक बयान ने सियासत में गरमी बढ़ा दी है. उन्होंने अलग राज्य भील प्रदेश की मांग की है. उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस मांग को देश की संसद में उठाएंगे. दरअसल, भील प्रदेश की मांग इस क्षेत्र में वर्षों से उठाई जा रही है. यहां भील प्रदेश मुक्ति मोर्चा, भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) सहित कई सामाजिक-राजनीतिक संगठन मजबूत हुए हैं. अब बीटीपी से टूटकर भारत आदिवासी पार्टी यानी BAP का गठन होने के बाद पार्टी इसे राजनैतिक स्तर पर उठा रही है. 

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT