"पानी की किल्लत के पीछे पूर्व सीएम वसुंधरा राजे का फैसला है वजह?" भजनलाल सरकार के मंत्री ने ही उठा दिए सवाल!

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

भीषण गर्मी के चलते राजस्थान में बिजली और पानी का संकट गहरा गया है. इधर, पेयजल आपूर्ति के सवाल के जवाब में सीएम भजनलाल शर्मा की सरकार में मंत्री कन्हैया लाल चौधरी ने ऐसा बयान दिया कि उस पर विवाद हो गया. पानी की किल्लत पर मंत्री के बयान को लेकर कई सवाल भी खड़े किए गए.

social share
google news

भीषण गर्मी के चलते राजस्थान में बिजली और पानी का संकट गहरा गया है. इधर, पेयजल आपूर्ति के सवाल के जवाब में सीएम भजनलाल शर्मा की सरकार में मंत्री कन्हैया लाल चौधरी (Kanhaiyalal Chaudhary) ने ऐसा बयान दिया कि उस पर विवाद हो गया. पानी की किल्लत पर मंत्री के बयान को लेकर कई सवाल भी खड़े किए गए. दरअसल, कैबिनेट मंत्री चौधरी ने कहा था कि पानी की समस्या को वो चुटकी बजाकर खत्म नहीं कर सकते, क्योंकि उनमें बालाजी जैसी शक्ति नहीं है. बवाल इस कदर बढ़ा कि चौधरी को घेरते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तो इशारों-इशारों में विभाग छोड़ने की भी सलाह दे दी.

बयान से पहले मंत्री ने जलदाय विभाग के इंजीनियरों के साथ बैठक भी की थी. विभागीय प्रोजेक्ट्स की समीक्षा के दौरान उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार के समय शुरू हुए द्रव्यवती नदी प्रोजेक्ट में नदी को पक्का करने पर ही सवाल उठा दिए.

 

 

मंत्री कन्हैयालाल ने कहा कि द्रव्यवती नदी को 50 किलोमीटर तक सीमेंट से पक्का कर दिया गया है, जिससे रिचार्ज सिस्टम ही खत्म हो गया है. अब हालात
ऐसे हो गए हैं कि शहर में 1 हजार फीट नीचे भी पानी नहीं बचा है.  

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT