Rajasthan election 2023: अगर बीजेपी ने जीता चुनाव तो कौन होगा मुख्यमंत्री?

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan election 2023: राजस्थान में विधानसभा चुनाव (Rajasthan election 2023) के लिए 25 नवबंर को मतदान संपन्न हो गया है. अब नतीजे 3 दिसंबर को आने हैं. हालांकि फलोदी सट्टा बाजार (phalodi satta bazar) के मुताबिक इस बार सरकार बीजेपी की बनेगी यानी राजस्थान में हर 5 साल बाद सत्ता बदलने का रिवाज कायम रहेगा. अब सवाल यह भी है कि अगर बीजेपी की सरकार बनती है तो सीएम कौन बनेगा? क्योंकि राजस्थान चुनाव शुरू होने से पहले बीजेपी की ओर से वसुंधरा राजे को साइडलाइन करने के कयास लगाए जा रहे थे. ऐसे में बीजेपी से कुछ लोगों के नाम सीएम पद की रेस में चल रहे हैं.

NDTV ने लोकनीति-सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (CSDS-Lokniti) के साथ मिलकर इस सवाल पर ओपिनियन पोल भी किया था. इस सर्वे (NDTV Rajasthan Opinion Poll) में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को 14 फीसदी लोगों की पसंद बताया गया था. इसके अलवा 6 फीसदी लोग गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं.

केंद्रीय मंत्री शेखावत से आगे चौंकाने वाला नाम!

जबकि शेखावत से पहले दूसरे स्थान पर चौंकाने वाला नाम सामने आया था. लोग इस बार यूपी की तरह राजस्थान में योगी आदित्यनाथ जैसा सीएम चाहते हैं. 13% लोग तिजारा से भाजपा के प्रत्याशी बालकनाथ योगी को सीएम देखना चाहते हैं. उन्होंने गजेंद्रसिंह शेखावत को पीछे छोड़ दिया है. शेखावत को सिर्फ 6 फीसदी और प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी को केवल 3 फीसदी लोग सीएम देखना चाहते हैं.

दीया कुमारी को 3 फीसदी लोग मानते हैं सीएम पद की पसंद

राजस्थान की विद्याधरनगर सीट से बीजेपी सांसद दीया कुमारी ने चुनाव लड़ा है. इस सीट पर पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के करीबी नरपत सिंह राजवी का टिकट काटा गया था. राजघरानै से संबंध रखने वालीं दीया कुमारी को वसुंधरा राजे का विकल्प माना जा रहा है. हालांकि चुनाव से पहले हुए सर्वे में दीया कुमारी को सीएम पद के तौर पर सिर्फ 3 फीसदी लोगों ने अपनी पसंद बताया था.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पूनिया भी हो सकते है सीएम?

राजस्थान में बीजेपी की ओर से सीएम फेस के लिए सतीश पूनिया का भी नाम चल रहा है. दरअसल, पूनिया ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष रहते हुए पार्टी को राज्य में मजबूत किया. मूल रूप से चूरू जिले के राजगढ़ के रहने वाले सतीश पूनिया राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ से भी जुड़े रहे हैं. साथ ही पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से भी उनकी अच्छी बनती है.

फलोदी सट्टा बाजार का दावा- राजे चेहरा होती तो मिलती 140 सीटें!

खास बात यह है कि बीजेपी के लिए फलोदी सट्टा बाजार ने 140 सीटों की संभावना भी जाहिर की थी. लेकिन इसमें पार्टी की एक बड़ी रणनीतिक चूक की ओर इशारा किया गया है. फलोदी के सटोरियों की मानें तो यदि वसुंधरा राजे को सीएम फेस बनाया गया तो BJP को 140 सीटें तक मिल सकती थी. यानी वसुंधरा राजे के सीएम फेस ना बनाने का नुकसान साफ तौर पर 30 सीटों पर बताया जा रहा है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ेंः मुस्लिम बाहुल्य सीटों पर वोटिंग % बढ़ा, किस पार्टी का बिगड़ेगा खेल?

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT