राजस्थान में BJP की वापसी में अहम रोल प्ले करेगा ये फैक्टर? सर्वे ने उड़ाई कांग्रेस की नींद

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

राजस्थान में BJP की वापसी में अहम रोल प्ले करेगा ये फैक्टर? सर्वे ने उड़ाई कांग्रेस की नींद
राजस्थान में BJP की वापसी में अहम रोल प्ले करेगा ये फैक्टर? सर्वे ने उड़ाई कांग्रेस की नींद
social share
google news

Rajasthan Opinion Poll 2023: राजस्थान में 25 नवंबर को विधानसभा चुनाव (rajasthan assembly election 2023) होना है. इससे पहले एक बड़ा ओपिनियन पोल सामने आया है जिसने राजनीतिक पार्टियों की नींद उड़ाकर रख दी है. सर्वे में बीजेपी के खाते में 200 में से 125 सीटें आने का दावा किया गया है. जबकि कांग्रेस को 72 सीटें मिल सकती है. सर्वे ने यह भी बताया है कि बीजेपी की इस जीत में कौनसा फैक्टर अहम रोल प्ले करने वाला है.

इंडिया टीवी सीएनएक्स के लेटेस्ट ओपिनियन पोल के मुताबिक, बीजेपी की जीत में जाति फैक्टर का अहम रोल होने वाला है. यहां की अगड़ी जाति में राजपूत अहम हैं. सर्वे की मानें तो 73 प्रतिशत राजपूत जाति का वोट इस बार बीजेपी को मिल सकता है. वहीं 15 प्रतिशत राजपूत वोट कांग्रेस को मिलने की उम्मीद है. बाकी के 12 फीसदी वोट अन्य के खाते में जाते हुए नजर आ रहे हैं. गौरतलब है कि पिछली बार राजपूत वोट बीजेपी से नाराज था. 

बनिया-जाट-गुर्जर किसके साथ?

बनिया वोटर्स की बात करें तो 64 फीसदी बीजेपी, 20 फीसदी कांग्रेस और 16 फीसदी अन्य के साथ हैं. जाट वोटर्स में 44 प्रतिशत बीजेपी, 24 प्रतिशत कांग्रेस और 32 प्रतिशत अन्य के साथ हैं. सर्वे के मुताबिक, अधिकतर गुर्जर मतदाता पिछली बार की तरह इस बार भी कांग्रेस के साथ जाते हुए दिख रहे हैं. 63 फीसदी गुर्जर कांग्रेस, 27 फीसदी बीजेपी और 10 फीसदी अन्य के साथ हैं.

मुसलमान किसके साथ?

2011 के जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक, राजस्थान की कुल आबादी का 9.07 फीसदी लोग मुस्लिम समुदाय से हैं. विधानसभा की 40 सीटें ऐसी हैं जहां मुस्लिम समुदाय का प्रभाव देखा जाता है. वहीं 24 सीटें ऐसी भी हैं जहां मुस्लिम वोट बैंक बड़ा है. अगर ओपिनियन पोल की मानें तो 3 फीसदी मुस्लिम वोट बीजेपी के साथ, 92 फीसदी कांग्रेस और 5 फीसदी अन्य के साथ जाएंगे.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ें: कांग्रेस की चौथी लिस्ट जारी, यहां जानिए बीजेपी की चौथी लिस्ट को लेकर ताजा अपडेट

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT