आखिर जयपुर का नाम कैसे पड़ा गुलाबी नगर? जानें दिलचस्प किस्सा

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

आज पूरी दुनिया के कोने-कोने में जयपुर को गुलाबी नगर के नाम से जाना जाता है.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

लेकिन एक वक्त था जब जयपुर शहर का रंग पीला और सफेद हुआ करता था.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

दरअसल, 1876 में इंग्लैंड की महारानी एलिजाबेथ और प्रिंस ऑफ वेल्स युवराज अल्बर्ट जयपुर आने वाले थे.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

उस समय उनके स्वागत के लिए पूरे शहर को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा था.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

महाराजा सवाई रामसिंह के मन में सूझा कि क्यों न पूरे शहर को एक रंग में रंग दिया जाए.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

फिर उन्होंने अपने अधिकारियों से मंत्रणा कर परकोटे में स्थित पूरे शहर को गुलाबी रंग से रंगवा दिया.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

उसी के बाद गुलाबी रंग इस शहर की पहचान बन गया और जयपुर को गुलाबी नगरी कहा जाने लगा.

तस्वीर: राजस्थान टूरिज्म के ट्विटर से

Arrow

इस महल में 953 खिड़कियां, लेकिन यहां एक भी सीढ़ी नहीं, देखें

अगली गैलरी: