स्वास्थ्य का अधिकार देने वाला देश का पहला राज्य बना राजस्थान, जानें

प्रतीकात्मक तस्वीरः मनीष अग्निहोत्री

Arrow

राजस्थान में राइट टू हेल्थ बिल को राज्यपाल कलराज मिश्र ने बुधवार को मंजूरी दे दी.

प्रतीकात्मक तस्वीर: मंदार देवधर

Arrow

इस बिल के विरोध में पिछले महीने डॉक्टर्स ने बड़ा आंदोलन चलाया था.

प्रतीकात्मक तस्वीर: सुबीर हल्दर

Arrow

हालांकि बाद में डॉक्टर्स और सरकार के बीच 8 बिंदुओं पर सहमति बन गई थी.

प्रतीकात्मक तस्वीर: मंदार देवधर

Arrow

कानून बनने के बाद अब मरीज को इमरजेंसी में प्राइवेट हॉस्पिटल में भी फ्री इलाज मिल सकेगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर: एचके राजशेखर

Arrow

अगर मरीज हॉस्पिटल को पैसे नहीं देता है तो उसका खर्चा राज्य सरकार उठाएगी.

प्रतीकात्मक तस्वीर: जैसन जी.

Arrow

हालांकि प्रदेश के 97 फीसदी प्राइवेट हॉस्पिटल इस कानून के दायरे से बाहर हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर: मनीष राजपूत

Arrow

केवल सरकारी मदद ले रहे 9 मेडिकल कॉलेज और 47 हॉस्पिटल ही इसके दायरे में आएंगे.

प्रतीकात्मक तस्वीर: राजवंत रावत

Arrow

सीएम गहलोत के इस फैसले से हजारों युवाओं को मिलेगी सरकारी नौकरी, जानें

अगली गैलरी: