अलवर: मेयर के सामने ही पार्षद ने JEN को मारा थप्पड़, रोड लाइट को लेकर हो गया था विवाद

ADVERTISEMENT

अलवर: मेयर के सामने ही पार्षद ने JEN को मारा थप्पड़, रोड लाइट को लेकर हो गया था विवाद
अलवर: मेयर के सामने ही पार्षद ने JEN को मारा थप्पड़, रोड लाइट को लेकर हो गया था विवाद
social share
google news

JEN Slapped By Councilor : राजस्थान (rajasthan news) के अलवर नगर निगम में एक बड़ी घटना सामने आई है. नगर निगम मेयर के कमरे में वार्ड नंबर 39 के पार्षद विष्णु शर्मा ने रोड लाइट के विवाद पर जेईएन (JEN) कृष्ण कुमार को थप्पड़ जड़ दिया. थप्पड़ इतना तेज था की जेईएन की आंख के पास निशान हो गया. घटना के बाद नगर निगम के अन्य कर्मचारी मौके पर जमा हो गए और उन्होंने घटना को लेकर विरोध जताया. घटना में घायल हुए जेईएन को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. तो वहीं दूसरी तरफ अधिकारी इस पूरे मामले को दबाने में लगे हैं.

जेईएन कृष्ण कुमार ने आरोप लगाया कि पार्षद विष्णु शर्मा सहित कई अन्य पार्षद मेयर घनश्याम गुर्जर के चेंबर में थे. मेयर ने उनको अपने कमरे में बुलाया. वहां पांच अन्य पार्षद भी बैठे हुए थे. रोड लाइट को लेकर चर्चा हो रही थी. इसी दौरान अचानक बात करते हुए पार्षद उठे और उनको तेज थप्पड़ जड़ दिया. पार्षद ने कहा कि मेरे वार्ड में लाइट सही नहीं हुई है और मेरे वहां तार डालो. इस पर उन्होंने कहा कि जल्दी यह काम हो जाएगा. इस पर पार्षद ने थप्पड़ मार दिया.

पार्षद पर लगाया रिश्वत मांगने का आरोप

जेईएन ने आरोप लगाया है कि पार्षद विष्णु शर्मा उनके वार्ड में ठेकेदार के जरिए चल रहे निर्माण कार्य के कामकाज में रिश्वत मांग रहा था. इसके लिए पार्षद ने पहले भी दबाव बनाया था. इस मामले की शिकायत कमिश्नर को दी गई है. वहीं पुलिस से भी शिकायत दी गई है. मामले की जानकारी मिलने के बाद डिप्टी एसपी नायरण सिंह नगर निगम पहुंचे. वहां पहुंचकर उन्होंने पूरे मामले की जानकारी ली.

JEN के चेहरे पर हो गया चोट का निशान

जेईएन को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, घटना के बाद जेईएन के चेहरे पर चोट का निशान है. नगर निगम के अधिकारी इस पूरे मामले को दबाने में जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच पड़ताल की जा रही है. इस मामले की जांच पड़ताल मेयर व कमिश्नर कर रहे हैं. डिप्टी एसपी ने कहा कि मामले में अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं हुई है. इस घटना ने नगर निगम को एक बार फिर से बदनाम किया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ें: लंबे समय से फरार ईनामी बदमाश गिरफ्तार, 175 किमी तक आरोपी की बहन ने किया पुलिस का पीछा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT