जोधपुर: ऑनलाइन क्लास में शरारती स्टूडेंट्स ने चलाई आपत्तिजनक वीडियो, फिर क्या हुआ…देखें

ADVERTISEMENT

जोधपुर: ऑनलाइन क्लास में शरारती स्टूडेंट्स ने चलाई आपत्तिजनक वीडियो, फिर क्या हुआ...देखें
जोधपुर: ऑनलाइन क्लास में शरारती स्टूडेंट्स ने चलाई आपत्तिजनक वीडियो, फिर क्या हुआ...देखें
social share
google news

Jodhpur: छोटे स्कूली बच्चों द्वारा मोबाइल का उपयोग करना भारी पड़ सकता है. जोधपुर शहर के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित बी आर बिड़ला स्कूल की ऑनलाइन क्लास में 8वीं क्लास के बच्चों की गलती से आपत्तिजनक वीडियो चलने लग गए, क्लास में करीब 100 छात्र-छात्राएं और शिक्षक-शिक्षिका जुड़े हुए थे.

ऐसा कई बार होने के बाद में पता चलने पर स्कूल प्रबंधन ने पूरी पड़ताल करने के बाद मंगलवार को चार छात्रों को सस्पेंड कर दिया. स्कूल की प्रिंसिपल प्रमिला शर्मा का कहना नियमानुसार चार छात्रों को सस्पेंड किया है. अभिभावकों को भी बताया गया हैं कि वे बच्चों के डिवाइस पर नजर रखें कि वे क्या करते है. जिससे इस तरह की परेशानी नहीं हो.

ऑनलाइन क्लासेस में हुई घटना

दरअसल, सर्दियों की छुट्टियां 14 जनवरी तक बढ़ाए जाने के बाद स्कूल प्रबंधन ने ऑनलाइन क्लासेस शुरू कर दी थी.10 जनवरी को ऑनलाइन क्लास के दौरान अचानक आपत्तिजनक वीडियो चलने लगे. इसके अलावा कुछ अश्लील मैसेज भी शुरू हो गए. यह क्रम लगातार बढ़ता रहा. इस पर ऑनलाइन क्लास का प्लेटफार्म बदला, लेकिन सिलसिला नहीं रुका. 14 जनवरी तक यह लगातार चलता रहा तो स्कूल प्रबंधन को बताया. कुछ छात्रों पर शक हुआ.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

चार स्टूडेंट का कारनामा

वहीं 15 जनवरी को उनको स्कूल में बुलाकर मोबाइल चेक किए तो सामने आया को चार स्टूडेंट ने एक ग्रुप बना रखा था. जिसमें टीचर्स को लेकर भद्दे कमेंट के मैसेज भी मिले. स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को बताया तो उनको भी विश्वास नहीं हुआ. इन छात्रों ने ही ऑनलाइन क्लास का लिंक टेलीग्राम के आपत्तिजनक ग्रुप में शेयर कर दिया. जिसके बाद ग्रुप के अन्य लोगों ने मैसेज और वीडियो डालने शुरू कर दिए. जिसके चलते टीचर्स और स्टूडेंट को फजीहत झेलनी पड़ी.

प्रिंसिपल ने बताई पूरी कहानी

प्रिंसिपल प्रमिला शर्मा का कहना है कि बच्चें मोबाइल के उपयोग को लेकर जागरूक नहीं है. वे ऐसी गलती कर लेते हैं. अभिभावकों को इसको लेकर निर्देश दिए. स्कूल प्रबंधन में बच्चों को उनके परिजनों के साथ स्कूल में बुलाया और जब मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में आपत्तिजनक कंटेंट शेयर करने का टेलीग्राम चैनल का लिंक मिला. जब देखा तो पता चला तो एक छात्र फेक आईडी से कमेंट कर रहा था. यह सभी बच्चे 8वीं कक्षा के बताए जा रहे है. इस पूरे घटनाक्रम को लेकर पुलिस को शिकायत नहीं दी गई है. लेकिन स्कूल प्रशासन ने चार छात्रों को सस्पेंड कर दिया है.

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT