अलवर: बड़ी बहन ने कंपनी में जॉब कर कर जोड़े 1-1 रुपए, छोटे भाई को लगी ऐसी लत कर दिया सब बर्बाद

ADVERTISEMENT

अलवर: बड़ी बहन ने कंपनी में जॉब कर कर जोड़े 1-1 रुपए, छोटे भाई को लगी ऐसी लत कर दिया सब बर्बाद
अलवर: बड़ी बहन ने कंपनी में जॉब कर कर जोड़े 1-1 रुपए, छोटे भाई को लगी ऐसी लत कर दिया सब बर्बाद
social share
google news

Rajasthan News: भिवाड़ी में एक युवक द्वारा ऑनलाइन गेम में डेढ़ लाख रुपए हारने का मामला सामने आया है. यह पैसा बहन ने नौकरी करके अपनी शादी के लिए जमा किया था. युवक को 2 साल पहले ऑनलाइन गेम (Online Game) खेलने की लत लगी. शुरुआत में वो एक हजार रुपए हारा और उसके बाद पैसे जीतने के चक्कर में वो धीरे-धीरे करके अपना सबकुछ हार गया. युवक ने बिना किसी को बताए बहन के अकाउंट से पैसे खुद के खाते में ट्रांसफर किए और उसके बाद पैसों से ऑनलाइन गेम खेलता था. कुछ दिन पहले जब बहन को पैसे की आवश्यकता हुई. तो उसने पैसे अपने पिता के खाते में ट्रांसफर किए. लेकिन बहन के खाते में पैसे नहीं थे. इसके बाद उसने बैंक में जाकर जब पता किया. तो उसके होश उड़ गए. परिवार के आर्थिक हालत खराब है. परिवार ने कहा कि अब दो वक्त की रोटी के लिए भी उनको परेशान होना पड़ रहा है.

बिहार के ओरंगाबाद की रहने वाली निशा (26) की मार्च में शादी है. निशा अपनी दो छोटी बहनों शिवानी और सपना, एक छोटे भाई रोशन और अपनी मां नगीना देवी के साथ भिवाड़ी के हाउसिंग बोर्ड में स्थित नीरज चंदेला लेबर कॉलोनी में रहती है. निशा हरियाणा के बिलासपुर की आयरन माउंटेन कंपनी में डॉक्यूमेंट एग्जिक्यूटिव के पद पर काम कर रही है. निशा को 18 हजार रुपए महीने की तनख्वाह मिलती है.

शादी के लिए बहन ने जोड़े थे रुपए

निशा ने अपने परिवार की जरूरत को पूरा करने के बाद करीब डेढ़ लाख रुपए अपनी शादी के लिए रुपए जमा किए थे. लेकिन निशा के सपनों पर पानी उस समय फिर गया. जब निशा के 16 वर्षीय छोटे भाई रोशन ने उसके सारे पैसे ऑनलाइन गेम में गंवा दिए. इस बात की निशा और उसके परिवार को कानों कान तक खबर नहीं लगी. जब निशा ने कुछ पैसे बिहार में अपने पिता जितेंद्र सिंह को भेजने के लिए बैंक से निकलवाने की कोशिश की. तो निशा को पता चला कि उसका बैंक अकाउंट खाली है. बैंक वालों ने जैसे ही निशा को यह बताया कि उसके अकाउंट में पैसे नहीं है. तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई. निशा ने अपने बैंक अकाउंट की पूरी स्टेटमेंट निकलवाई. तो पता चला की निशा के बैंक अकाउंट से पैसे निशा के छोटे भाई रोशन के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर हुए हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पिता रहते हैं बिहार में

भिवाड़ी के पीएनबी बैंक में करीब तीन साल पहले रोशन का स्टूडेंट अकाउंट खुलवाया गया था. जब निशा सहित उसके परिवार ने रोशन से इस बारे में पूछा. तो उसने बताया कि वो सारे पैसे ऑनलाइन गेम में हार चुका है. रोशन की यह बात सुनकर परिवार के लोग हक्के बक्के रह गए और उनके सपनों पर पानी फिर गया. निशा की छोटी बहन 22 वर्षीय शिवानी भी अपनी बड़ी बहन निशा के साथ एक महीने से बिलासपुर में आयरन माउंटेन कंपनी में काम पर जा रही थी. भाई ने शिवानी के खाते से भी 35 हजार रुपए अपने खाते में ट्रांसफर कर लिए और वो भी गेम में हार गया. निशा के पिता भी बेरोजगार हैं और बिहार में अकेले ही रहते हैं. भिवाड़ी में निशा अपने तीन भाई बहनों और मां के साथ गुजर बसर कर रही है. निशा की सबसे छोटी बहन 20 वर्षीय सपना बीएससी फाइनल की पढ़ाई कर रही है. निशा का सबसे छोटा भाई रोशन हरियाणा के एक सरकारी स्कूल में दसवीं कक्षा का छात्र है. परिवार के आर्थिक हालत खराब है. परिवार के पास अब दो वक्त के राशन के लिए भी पैसे नहीं है.

दोस्त ने गेम का लिंक भेज कर कराया था डाउनलोड

बिहार में रोशन के गांव रेहरा औरंगाबाद में उसका 15 वर्षीय दोस्त प्रीतम महतो रहता है. जब रोशन पिछले साल बिहार में अपने घर गया था. तो उसके दोस्त प्रीतम ने उसे गेम के बारे में बताया था और उससे अपने ही मोबाइल पर 10 रुपए लगाकर गेम खेलना सिखाया था. उसके बाद रोशन के दोस्त प्रीतम ने रोशन के मोबाइल में गेम का लिंक भेजा व गेम को डाउनलोड करवाया था. 10 रूपए से शुरुआत कर रोशन ने गेम को खेलना शुरू किया. फिर 100 रुपए और उसके बाद एक हजार रुपए लगाने लग गया. नवंबर और दिसंबर माह में 14000 और 10000 रुपए के कई ट्रांजैक्शन हुए. इस तरह उसने अपनी बहन निशा और शिवानी के बैंक अकाउंट से पैसे अपने अकाउंट में ट्रांसफर किए और करीब डेढ़ लाख रुपए की रकम गेम में हार गया.

ADVERTISEMENT

कैसे होगी बहन की शादी

निशा इस बात को लेकर परेशान है कि मार्च में होने वाली उसकी शादी का खर्चा कैसे होगा. निशा की मां इस मामले की जानकारी देते हुए रोने लगी. उन्होंने कहा कि उसकी बड़ी बेटी की मेहनत की कमाई पर पानी फिर गया. उसकी सारी कमाई लूट गई. अब उसकी शादी का खर्चा वो कैसे वहन करेगी. भिवाड़ी शहर में तो उसका कोई किसी से लेनदेन भी नहीं है.

ADVERTISEMENT

भाई बहन पर खर्च करती थी निशा पैसे

निशा ने कहा कि उसने कभी भी अपने लिए अच्छे कपड़े भी नहीं खरीदे. कई बार दोस्तों को देखकर उसके मन में भी अच्छे कपड़े खरीदने का मन करता था. लेकिन अपनी इनकम और घर के खर्चे के साथ-साथ भाई-बहन की पढ़ाई में लग रहे पैसों को देखकर वो अपना मन मार कर रह जाती थी. पूरा परिवार लेबर कॉलोनी के एक कमरे में रहता है.

    ADVERTISEMENT