भरतपुर: IPS की दुल्हनियां बनीं IAS अपराजिता, हेलिकॉप्टर में बैठकर पहुंची ससुराल, पिता बोले- सपना पूरा हुआ

ADVERTISEMENT

भरतपुर: IPS की दुल्हनियां बनीं IAS अपराजिता, हेलिकॉप्टर में बैठकर पहुंची ससुराल, पिता बोले- सपना पूरा हुआ
भरतपुर: IPS की दुल्हनियां बनीं IAS अपराजिता, हेलिकॉप्टर में बैठकर पहुंची ससुराल, पिता बोले- सपना पूरा हुआ
social share
google news

Rajasthan: भरतपुर में उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस और आईपीएस की शादी संपन्न हुई. शादी संपन्न होने के बाद आईपीएस पति अपनी आईएएस दुल्हन को हेलीकॉप्टर से लेकर अपने गांव गया. जिसे देखने के लिए लोग पहुंचे. खासकर हेलीकॉप्टर को देखने के लिए भी और आईएएस-आईपीएस दंपत्ति को भी.

दरअसल, भरतपुर के गांव धौरमुई की रहने वाली अपराजिता के पिता डॉ अमर सिंह और माता डॉ नीतन सिंह दोनों ही सरकारी अस्पताल में चिकित्सक थे लेकिन सेवानिवृत्ति लेकर दोनों ने अपना खुद का अस्पताल शुरू किया. उनकी बेटी डॉ अपराजिता ने वर्ष 2011 में नीट की परीक्षा पास की और वर्ष 2017 में हरियाणा के रोहतक से एमबीबीएस पूरी कर ली लेकिन अपराजिता आईएएस बनना चाहती थी. इसलिए उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी की और वर्ष 2019 में वह आईएएस बन गई. वह तीन वर्ष आंध्र प्रदेश कैडर में रहने बाद उत्तर प्रदेश कैडर में आ गई और फिलहाल वह उत्तर प्रदेश के चंदौली में मुख्य विकास अधिकारी के पद पर तैनात हैं.

चूरू के रहने वाले हैं देवेंद्र

वहीं उनकी शादी देवेंद्र कुमार के साथ हुई है, जो चूरू जिले के खसौली गांव के रहने वाले हैं. देवेंद्र कुमार का सिविल सेवा परीक्षा 2021 में चयन हुआ और वह आईपीएस बने जो फिलहाल उत्तर प्रदेश के बनारस में अंडर ट्रेनी आईपीएस है और अभी 6 छह महीने बचे हैं, दोनों की शादी विगत रात भरतपुर की एक निजी होटल में संपन्न हुई और उसके बाद बुधवार को कॉलेज ग्राउंड से नवदम्पत्ति हेलीकाप्टर से रवाना हुआ.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पिता बोले – सपना पूरा हुआ

दुल्हन डॉ अपराजिता,आईएएस के पिता डॉ अमर सिंह का कहना है कि मेरा सपना था कि आईएएस बनने के बाद जब मेरी पुत्री की शादी होगी तो उसे हेलीकॉप्टर से ससुराल के लिए रवाना करूंगा, मेरी पुत्री आईएएस और दामाद आईपीएस हैं. आईएएस डॉ अपराजिता के पिता एक किसान परिवार से है, जो पढ़ाई कर चिकित्सक बने और उसके बाद उनकी पुत्री आईएएस बनी हैं.

    ADVERTISEMENT