भरतपुर: प्यार की खातिर जेंडर चेंज कराकर शारीरिक शिक्षक मीरा बनी आरव, छात्रा से की शादी, चर्चा में है ये मैरिज

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Bharatpur News: राजस्थान के भरतपुर में सरकारी स्कूल में तैनात शारीरिक शिक्षक मीरा और स्कूल की स्टूडेंट कल्पना के बीच प्यार इतना परवान चढ़ा की दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया था. मीरा ने जेंडर चेंज करने के बाद कल्पना से दो दिन पहले शादी कर ली.

शारीरिक शिक्षक मीरा ने अपने स्कूल की छात्रा कल्पना के साथ शादी करने के लिए मीरा से आरव कुंतल बन गई. दो दिन पहले दोनों ने परिवारों की सहमति के बाद शादी कर ली. शादी करने के बाद दोनों कपल काफी खुश हैं. इसके अलावा दोनों के परिवार भी शादी को लेकर बेहद खुश नजर आ रहे हैं.

कबड्‌डी में नेशनल खेल चुकी है कल्पना
दरअसल डीग कस्बे की रहने वाली मीरा राजकीय माध्यमिक विद्यालय गांव मोती का नगला,थाना डीग में शारीरिक शिक्षक के पद पर तैनात है. जहां उसी गांव की रहने वाली कल्पना भी उस स्कूल में पढ़ती थी. कल्पना अच्छी कबड्डी खिलाड़ी है, जो तीन बार नेशनल खेल चुकी है. स्कूल के दौरान ही शारीरिक शिक्षक मीरा और स्टूडेंट कल्पना के बीच प्यार हो गया था. दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया था.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

2 साल तक हुई जेंडर बदलने के लिए सर्जरी
शारीरिक शिक्षक मीरा ने अपना जेंडर चेंज कराकर लड़की से लड़का बन गई और अपना नाम मीरा से आरव रख लिया. 2019 से 2021 तक जेंडर चेंज कराने के लिए सर्जरी होती रही. जब जेंडर चेंज होने की पूरी प्रक्रिया पूरी हो गई तब मीरा से आरव बने टीचर ने अपनी स्टूडेंट कल्पना से 2 दिन पहले शादी रचा ली. इस शादी को लेकर दोनों के ही परिवार बेहद खुश हैं. जेंडर चेंज कराने वाली मीरा की चार बड़ी बहन भी हैं, जो शादी शुदा हैं. मगर उनके कोई भाई नहीं था.

फीमेल कोटे से मिली थी नौकरी, बन गया मेल
जेंडर चेंज कराने वाले आरव कुंतल ने बताया- मैं फीमेल कोटे से सरकारी स्कूल में शिक्षक बना था. स्कूल में पढ़ने वाली लड़की कल्पना अच्छी खिलाड़ी थी. जब मैंने अपना जेंडर चेंज कराया तो कल्पना ने मेरा पूरा साथ दिया था और उसी समय हमने जल्द शादी करने का फैसला कर लिया था. दोनों परिवारों के बीच पहले से ही काफी मेलजोल था और दोनों ही परिवार शादी के लिए सहमत हो गए थे. मुझसे बड़ी मेरी चार शादीशुदा बहन हैं. मैं जब लड़की था तो उस समय भी मुझे महसूस होता था कि मैं लड़की ना होकर लड़का हूं. सब कुछ ठीक हो गया है, लेकिन फिलहाल नौकरी के कागजात में नाम परिवर्तन और फीमेल से मेल जेंडर कागजात में बदलवाने के लिए काफी परेशानी हो रही है.

ADVERTISEMENT

शादी करने के बाद दुल्हन बनी कल्पना ने बताया- मेरे गांव के सरकारी स्कूल में हमारी शारीरिक शिक्षक मीरा थीं. मुझे उनसे प्यार हो गया था. 3 वर्ष पहले मेरी शारीरिक शिक्षक मीरा ने अपना जेंडर चेंज कराकर लड़की से लड़का बन गईं. जिसमें मैंने पूरा सहयोग किया था. मैं अपने गुरु के साथ शादी करके बेहद खुश हूं. दोनों परिवारों की सहमति के बाद ही हमने शादी की है.

ADVERTISEMENT

कंटेंट: सुरेश फौजदार

    ADVERTISEMENT