धौलपुर: सरकारी स्कूल में क्या हुआ कि शिक्षक को छात्रा से माफी मांगनी पड़ी फिर भी मिला थप्पड़!

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

राजस्थान के धौलपुर जिले के एक सरकारी स्कूल के शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है. निलंबन से पहले शिक्षक ने छात्रा से माफी मांगी पर छात्रा ने शिक्षक को थप्पड़ जड़ दिए. संयुक्त निदेशक भरतपुर ने शिक्षक को निलंबित कर डीग जिले के कांमा में मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में निलंबन काल के दौरान उपस्थिति देने के आदेश जारी किए हैं.

जिला शिक्षा अधिकारी महेश मंगल ने बताया कि बसई नबाव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिक्षक द्वारा छात्रा के साथ छेड़छाड़ की सूचना 5 फरवरी को मिली थी. स्कूल में हुई घटना को लेकर जांच कमेटी बना कर मामले की जांच कराई गई. जांच रिपोर्ट में शिक्षक द्वारा गलती सामने आने पर रिपोर्ट संयुक्त निदेशक भरतपुर को भेज दी गई.

शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक ने जांच रिपोर्ट के आधार पर बसई नबाव स्कूल में तैनात वरिष्ठ अध्यापक को निलंबित कर दिया है और उनको डीग जिले के कांमा में मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में निलंबन काल के दौरान उपस्थिति देने के आदेश जारी किये गए हैं. शिक्षक के खिलाफ अभी जांच जारी है.

छेड़छाड़ के बाद शिक्षक पहुंचा छात्रा के घर

मामला धौलपुर के बसई नबाव कस्बे के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का है. यहां एक शिक्षक पर आरोप है कि उसने प्रैक्टिकल के दौरान बारहवीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा से खेलकूद कक्ष के पास छेड़छाड़ कर दी थी. इसके बाद आरोपी शिक्षक उसी दिन छात्रा के घर पहुंचने से पहले ही उसके के परिजनों के पास पहुंच गया. शिक्षक ने छात्रा के परिजनों को घटना के बारे में बता कर अपनी गलती की माफी मांगी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

छात्रा के परिजनों ने टीचर की कर दी पिटाई

पीड़ित छात्रा के परिजनों ने इस दौरान आरोपी शिक्षक की पिटाई भी कर दी थी. इधर स्कूल प्रबंधन इस मामले को रफा दफा करने में लगा रहा.पीड़ित छात्रा के परिजनों और शिक्षक के बीच मामले को रफा दफा करने के लिए ग्रामीणों की तरफ से पंचायत बुलाई गई. इधर छात्रा और उसके परिजन शिक्षक की शिकायत करने पर अड़े रहे. इसके बाद मामला शिक्षा विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में आया और तीन सदस्य जांच कमेटी गठित की गई.

छात्रा ने भी शिक्षक को जड़ दिए थप्पड़

इधर खुद शिक्षक ने अपनी गलती के लिए माफी मांगने को आग्रह किया. शिक्षक स्कूल की जांच कमेटी में दोषी पाया गया था. स्कूल प्रिंसिपल मानसिंह ने जांच कमेटी के सामने आरोपी शिक्षक को स्कूल से हटाने की मांग माने जाने पर लिखित में राजीनामा करा दिया था. ग्रामीणों की पंचायत के फरमान के बाद स्कूल में आरोपी शिक्षक ने प्रेयर के समय छात्रा के जब पैर छुए तो उसकी आंखों से आंसू आ गए. इधर छात्रा ने भावावेश में शिक्षक को थप्पड़ जड़ दिए. इस दौरान स्कूल प्रबंधन ने स्टाफ के साथ-साथ ग्रामीणों से मोबाइल फोन भी जमा करा लिए थे,जिससे कोई फोटो और वीडियो न बना सके.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें:

Tonk: प्रेक्टिकल में अच्छे नंबर देने के बदले सरकारी टीचर ने छात्रा से मांगी अस्मत, 3 महीने से भेज रहा मैसेज

    ADVERTISEMENT