करौली: दूषित पानी पीने से दर्जनों बीमार और एक की मौत, प्रशासन में मचा हड़कंप

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Karauli News: करौली जिले के हिंडौन सिटी में नलों से दूषित पानी की आपूर्ति से कई दर्जन लोग बीमार होने के बाद अस्पताल में भर्ती हैं. इस बीच एक 12 वर्षीय बच्चें की मौत का मामला सामने आया है. पानी जलदाय विभाग की टंकी से गंदा पानी आ रहा था, गंदे पानी पीने से शाहगंज निवासी गिरधारी कोली का एकलौता 12 वर्षीय पुत्र देव कुमार मौत हो गई. गिरधारी कोली ने समझा की बेटे को छोटी-मोटी उल्टी दस्त है लेकिन जल्द ही कुछ लम्हों के बीच इकलौते बेटे की जान चली गई. सर्दी में कांपते हुए बेटे देव कुमार को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

मामले को लेकर हिंडौन सिटी में लोगों में जलदाय विभाग के अधिकारियों के खिलाफ रोष है. विभागीय अधिकारी जलदाय विभाग की लीकेज पाइप लाइनों को सही नहीं कराते, जिनके कारण नालियों का गंदा पानी भी लोगों के घरों तक पहुंच रहा है. पानी की टंकी की सफाई भी अप्रैल में कराई गई थी. पूरे मामले को जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने गंभीरता से लेते हुए पुरानी आबादी के मोहल्लों में पहुंच स्थिति का जायजा लिया. साथ ही राइजिंग आपूर्ति पाइप लाइन में लीकेज और अवैध कनेक्शनों पर कड़ी नाराजगी जताई.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अभियंताओं को सख्त निर्देश दिए हैं कि 5 दिनों में स्वच्छ जल आपूर्ति सुनिश्चित की जाए. गंदे पानी पानी के कारण शहर की पुरानी आबादी क्षेत्र के मोहल्ले चौबे पाड़ा, कसाई पाड़ा, बयानपाड़ा, शाहगंज क्षेत्र से करीब तीन दर्जन रोगी अस्पताल में भर्ती हुए हैं. 7 जनों को आईसीयू में शिफ्ट किया गया है. वहीं शिशु वार्ड में 16 बच्चें भी उपचारित हैं, जिला कलेक्टर ने राजकीय अस्पताल पहुंचकर दूषित पानी से बीमार हुए रोगियों के उपचार की जानकारी ली साथ ही रोगियों से बातचीत की.

यह भी पढ़ें: जोधपुर: दो पक्षों में कहासुनी के बाद पथराव, तीन थानों की पुलिस जाब्ता मौके पर मौजूद

ADVERTISEMENT

इस दौरान जिला कलेक्टर ने चिकित्सालय परिसर में गंदगी पर आपत्ति जताते हुए हिंडौन राजकीय अस्पताल के पीएमओ डॉ पुष्पेंद्र गुप्ता को सफाई व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए. साथ ही चिकित्सकों की बैठक लेकर उल्टी दस्त के बीमारों की तुरंत उपचार के निर्देश दिए हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: धौलपुर: पानी में नशीला पदार्थ पिलाकर नाबालिग से दुष्कर्म, चंगुल से भागकर थाने पहुंची पीड़िता

जलदाय विभाग के अभियंताओं के साथ खरेटा रोड पर अवैध राइजनिंग कनेक्शन काटने व मरम्मत कार्य का जिला कलेक्टर ने मौके पर जाकर जायजा लिया. लीकेज पाइप लाइनों के पास कीचड़ गंदगी देखकर कलेक्टर ने नगर परिषद आयुक्त कीर्ति कुमारी को सफाई के निर्देश दिए हैं.

कंटेंट: गोपाल लाल

    ADVERTISEMENT