नागौर: नौकरी के नाम पर ठगी के मामले में कोचिंग संचालक गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Nagar news: राजस्थान में सेकंड ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक का मामला तूल पकड़ रखा है. यह मामला कल ट्वीटर पर टॉप ट्रेंड पर था. जिसमें कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. वहीं इसी परीक्षा में अब पैसे लेकर नौकरी लगाने का मामला सामने आया है. पुलिस ने मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

मामला नागौर जिले का है. जहां एक कोचिंग संचालक द्वारा वरिष्ठ शिक्षक भर्ती परीक्षा में पेपर पास करवाने और नौकरी लगवाने के नाम पर डेढ़ लाख रुपए हड़पने का मामला सामने आया है. जिस पर पुलिस ने एक कोचिंग संचालक व उसके सहयोगी को भी गिरफ्तार कर लिया है. कोतवाली पुलिस ने नागौर शहर के मानेसर स्थित उड़ान के लिए पॉइंट कोचिंग सेंटर संचालक प्रकाश चंद सोलंकी, उसके साथी राजेश मीणा निवासी बामनवास तहसील, जिला सवाई माधोपुर से गिरफ्तार कर लिया है.

नागौर एसपी राममूर्ति जोशी ने बताया कि शहर के मरुधर कॉलोनी निवासी महेंद्र सिंह पुत्र भवानी सिंह चारण ने 23 दिसंबर को कोतवाली थाने में एक रिपोर्ट दी थी. रिपोर्ट में बताया कि वह उड़ान कैरियर पॉइंट कोचिंग सेंटर में पढ़ाने जाता है. जहां पर कोचिंग संचालक प्रकाश सोलंकी ने उन्हें बताया कि उसका दोस्त राजेश मीणा है जो कि काफी लोगों को प्रतियोगिता परीक्षा में पास करवा कर नौकरी भी लगवा दी और वह तेरा भी काम करवा देगा. कोचिंग संचालक ने कहा कि तेरी भी परीक्षा जिस दिन होगी उसके 1 दिन पहले राजेश मीणा का फोन तेरे पास आएगा और वह तेरा काम कर देगा. परीक्षा में पास भी करवा देगा. इसके बदले में उससे कोचिंग संचालक प्रकाश सोलंकी ने डेढ़ लाख रुपए हड़प लिए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

युवक की रिपोर्ट के अनुसार मामला दर्ज कर पुलिस ने उड़ान कोचिंग संचालक तथा उसके सहयोगी राजेश मीणा को गिरफ्तार कर लिया. प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि राजेश मीणा पहले भी शिक्षक भर्ती परीक्षा में पास करवा कर सिलेक्शन करवाने के नाम पर 30 40 युवकों के साथ धोखाधड़ी कर चुका है.

    ADVERTISEMENT