नागौर: मेघवाल समाज की सराहनीय पहल, मृत्यु भोज को बंद करने का लिया निर्णय

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Nagaur news: नागौर में एक समाज ने कुरीति खत्म कर समाज सुधार के लिए अच्छी पहल की है. जिले के डीडवाना में क्यामसर और अहिरों का बास में मेघवाल समाज ने एक दिवसीय बैठक की. जिसमें समाज में फैली मृत्यु भोज जैसी सामाजिक बुराइयों को बंद करने का निर्णय लिया गया. मेघवाल समाज संघ के राष्ट्रीय महासचिव बीएल भाटी, डॉक्टर अंबेडकर मेमोरियल वेलफेयर सोसायटी डीडवाना के अध्यक्ष बुधाराम गढ़वा, मेघवाल समाज विकास संस्थान के अध्यक्ष रघुनाथ प्रसाद और पूर्व बैंक अधिकारी गुमाना राम ने इस बैठक में कुरीति खत्म करने की पहल की.

समाज की बैठक में मौजूद सभी लोगों ने इस फैसले का स्वागत किया और मृत्युभोज नहीं करने का फैसला किया. मेघवाल समाज संघ के राष्ट्रीय महासचिव बी एल भाटी ने समाज के लोगों को ऐसे निर्णय लेने पर बधाई दी. साथ ही हर गांव में ऐसा समाज सुधार का निर्णय लेने का भी समाज के लोगों से आग्रह किया है.

गौरतलब है कि घर के किसी सदस्य की मौत के बाद उसके परिजन भोज का आयोजन करते हैं. जिसमें हजारो लोग शामिल होते हैं. यह बेहद अमानवीय कुरीति है. जिसमें पीड़ित परिवार को मानसिक और आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है. इस पहल के बाद समाज में सुधार आएगा. मृत्यु भोज जैसे फिजूल आयोजन की बचत का पैसा सही जगह काम आएगा. इस दौरान समाज के भागीरथ राम, सांवलाराम, कूदना राम, अमराराम, सुगनाराम सहित कई बुद्धिजीवी लोग मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें...

    ADVERTISEMENT