राजसमंद: पुजारी की मौत पर सांसद दीया कुमारी ने खड़े किए सवाल, कहा- स्थानीय विधायक की जांच हो

ADVERTISEMENT

फोटो: देवेन्द्र सिंह
फोटो: देवेन्द्र सिंह
social share
google news

Rajsamand News: राजसमंद जिले के देवगढ़ में मंदिर भूमि विवाद को लेकर पुजारी नवरत्नलाल प्रजापत की मौत के बाद मामला बढ़ता नजर आ रहा है. कुछ बदमाशों ने पुजारी के घर पर पेट्रोल बम फेंके. जिससे पुजारी दंपती झुलस गए. उन्हें उदयपुर के MB अस्पताल में भर्ती करवा गया था. लेकिन शनिवार को पुजारी जिन्दगी की जंग हार गया. वहीं उनकी पत्नी की हालात अभी गंभीर बनी हुई है. अब इस मामले को लेकर राजसमंद सांसद दीया कुमारी ने मोर्चा खोल दिया है.

वह शनिवार शाम देवगढ़ पहुंची और पीड़ित परिजनों के साथ उपखंड कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गई. परिजनों ने मृतक के शव वाली एंबुलेंस को उपखंड कार्यालय के अंदर खड़ा करवा दिया है. परिजन और सांसद दीया कुमारी की मांग है कि इस घटना को लेकर स्थानीय विधायक सुदर्शन सिंह रावत की भी भूमिका की जांच की जाए और उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाए. वहीं इस मांग को लेकर समाज में दो फाड़ होते नजर आ रहे हैं. समाज के कुछ लोग इस मांग को लेकर परिवार के साथ खड़े हुए नजर नहीं आ रहे हैं.

बता दें घटना 20 नवंबर देर रात की है, जहां पुजारी नवरत्नलाल ‘हीरा की बस्सी’ अपने घर पर परिवार के साथ खाना खा रहा था. उसी दौरान 10 से 12 लोगों ने पेट्रोल बम से हमला कर दिया था. इससे पुजारी को आग की चपेट में आ गए और वह झुलस गए. झुलसे पुजारी दंपति का उदयपुर में इलाज चल रहा था. 80% झुलसे पुजारी नवरत्न लाल की स्थिति 3 दिन से गंभीर बनी हुई थी और शनिवार को उनका निधन हो गया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पूरा मामला देवगढ़ के हीरा की बस्सी देवनारायण मंदिर के बेशकीमती जमीन से जुड़ा हुआ था और इस वारदात में शामिल मुख्य मास्टरमाइंड जितेंद्र सिंह सहित 8 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. वहीं दो पुलिसकर्मी भी सस्पेंड किए गए हैं. जबकि देवगढ़ तहसीलदार को भी जिला कलेक्टर ने नोटिस थमा रखा है.

कंटेंट: देवेन्द्र सिंह

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT