राजस्थान में शिक्षक भर्ती पेपर लीक के बाद जगह-जगह अभ्यर्थियों का प्रदर्शन, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan paper leak: राजस्थान मे आज होने वाली आरपीएससी शिक्षक भर्ती सैकंड ग्रेड सामान्य ज्ञान परीक्षा का पेपर लीक हो गया है. इसकी सूचना मिलते ही प्रदेशभर में परीक्षार्थीयों ने विरोध-प्रदर्शन किया. कई जिलों में सेंटर पर पहुंचे परीक्षार्थीयों का गुस्सा फूट पड़ा. इस दौरान सरकार और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करके हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे.

गौरतलब है कि राजस्थान में सेकंड ग्रेड शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है. इसके तहत शनिवार को सुबह पहली पारी में जीके (सामान्य ज्ञान) का पेपर हो रहा था. निर्धारित समय पर पेपर शुरू हुआ. परीक्षा कक्ष में छात्रों को पेपर और ओएमआर शीट का वितरण भी हो गया था. लेकिन अचानक पेपर आउट होने की जानकारी मिली तो, अभ्यार्थियों से पेपर वापस ले लिया गया. पेपर निरस्त होने की जानकारी युवाओं को दी गई. इसके बाद परीक्षा केंद्र के बाहर युवाओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया.

इन जिलों में हुआ विरोध-प्रदर्शन

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

झालावाड़ जिले में आरपीएससी शिक्षक भर्ती सेकंड ग्रेड की परीक्षा चल रही थी. इस दौरान परीक्षा निरस्त की सूचना प्रशासन को मिली तो अधिकारियों ने सभी सेंटरों को सूचित किया. इसके बाद सभी सेंटरों पर छात्रों से कॉपी व अन्य दस्तावेज इकट्ठा कर कर लिए गए और छात्रों को सूचित कर दिया गया कि पेपर निरस्त हो गया है. बाकी पेपर यथावत रहेंगे. इसके बाद छात्रों में रोष व्याप्त हो गया. छात्रों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. कई छात्राओं ने गुस्सा दिखाते हुए कहा कि भीषण सर्दी में पेपर के लिए दूर-दूर से परीक्षा देने के लिए आते हैं. पेपर निरस्त की सूचना जब मिलती है तो दिल को बड़ा दुख होता है. ऐसा कब तक चलेगा. वहीं पेपर लीक सूचना पर परिजनों में भी रोष है. बोले कि बच्चे परीक्षा के लिए मेहनत करते हैं और पेपर लीक हो जाता है. इस दौरान दोषियों पर कठोर कार्रवाई की मांग की गई.

बांसवाड़ा जिले में आरपीएससी परीक्षा शिक्षक भर्ती सेकंड ग्रेड सामान्य ज्ञान परीक्षा पेपर निरस्त कर दिया गया. परीक्षा केंद्र में बैठे अभ्यर्थियों से तत्काल प्रश्न पत्र वापस ले लिए गए. उसके बाद में परीक्षा निरस्त का बोलकर अभ्यर्थियों को निकाल दिया. कुछ अभ्यर्थी फिर भी परीक्षा केंद्र के बाहर वापस बुलाने की उम्मीद पर खड़े रहे. वहीं इस दौरान अभ्यर्थियों में काफी आक्रोश दिखाई दिया. सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट की लड़ाई में हमें क्यों घसीट रहे हैं. इसके बाद सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए न्याय देने की मांग की.

ADVERTISEMENT

कोटा में परीक्षा रद्द होने के बाद अभ्यर्थियों में गुस्सा देखने को मिला. गुस्साए अभ्यर्थियों ने कहा कि गहलोत सरकार ने भर्ती परीक्षाओं को मजाक बना दिया है. सरकार भी इसमें शामिल है. कानून बनाने के बावजूद भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं. वहीं दौसा में भी छात्रों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जमकर विरोध-प्रदर्शन किया.

ADVERTISEMENT

पेपर रद्द होने के बाद बस स्टैंड पर खड़े छात्र
तस्वीर: मनोज तिवारी

 

धौलपुर जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय महाराणा परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने आये अभ्यर्थियों ने कहा कि गहलोत सरकार में सभी भर्ती परीक्षाओं के पेपर आउट हुए हैं. जो कानून बनाया है उससे दोषियों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही हैं. गहलोत सरकार पेपर आउट के मामले में फैल है.अभ्यर्थियों ने बताया कि आठ से दस घंटे मेहनत कर हमने तैयारी की और हमारे परिजनों ने कर्जा लेकर हमें जयपुर कोचिंग कराने भेजा. लेकिन सरकार ने पेपर आउट करा दिया. अभ्यर्थियों का कहना है कि पेपर आउट मामले में खुद सीएम गहलोत शामिल हैं, क्या इनको नहीं मालूम कि इस रैकेट में कौन कौन शामिल हैं, फिर कार्रवाई क्यों नहीं.

वहीं अलवर में युवाओं ने कहा कि सरकार की लापरवाही के चलते लगातार पेपर आउट हो रहे हैं. रीट परीक्षा के बाद आरपीएससी सेकंड ग्रेड परीक्षा का पेपर आउट हुआ है. ऐसे में सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए. युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है. सरकार को दूसरी पारी का पेपर भी निरस्त करना चाहिए. क्या गारंटी है कि द्वितीय पारी का पेपर आउट नहीं हुआ हो. अलवर में बस स्टैंड मार्ग स्थित ओसवाल स्कूल व हैप्पी पब्लिक स्कूल सहित जिले में अलग-अलग जगहों पर युवाओं ने सड़क पर जाम लगाकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया.

हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर स्थित सरस्वती कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में पेपर लीक की सूचना काफी देर बाद मिली. इसके चलते बच्चों को काफी देर से परीक्षा केंद्र से बाहर निकाला गया. बच्चों ने बाहर आते ही बताया कि उन्हें यह कहा गया है कि पेपर में कोई त्रुटि है, लेकिन हमारे द्वारा उन्हें बताया गया कि पेपर लीक हो गया है. जिससे छात्र छात्राओं के चेहरे पर आक्रोश आ गया और उन्होंने गहलोत सरकार पर हमला बोलने लगे. कहा कि सरकार हर बात पर पेपर लीक करवाती है. शायद ये उनका रुपया इकट्ठा करने का एक एजेंडा है. क्योंकि बच्चों से परीक्षा शुल्क के नाम पर लाखों करोड़ों रुपए इकट्ठा किया जा रहा है. बार-बार कब तक यह पेपर लीक होंगे? उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. उनके जो सपने हैं उन्हें चकनाचूर किया जा रहा है. कुछ छात्र छात्राओं ने यह कहा कि जिनकी वजह से यह पेपर लीक हुआ है, उन्हें सजा देनी चाहिए, क्योंकि वह बर्दाश्त नहीं करेंगे.

इनपुट: फिरोज अहमद, उमेश मिश्रा, मनोज तिवारी

 

    ADVERTISEMENT