मकर संक्रांति मनाने को लेकर इन दो तारीखों पर पेंच! जानिए आखिर कब मनाया जाएगा त्यौहार?

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Makar sankranti: मकर संक्रांति (Makar sankranti) महत्वपूर्ण उत्सव होता है. लेकिन इस बार इसे मनाने को लेकर संशय है. अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व 14 या 15 जनवरी को मनाया जाता है. ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि इस बार संक्रांति कब होगी? दरअसल, भगवान सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर मकर संक्रान्ति मनाई जाती है. यह त्योहार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 14 जनवरी को मनाया जाता है, पर कभी-कभी यह त्योहार 15 जनवरी को भी पड़ता है. यह इस बात पर निर्भर करता है कि सूर्य कब धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं. इस दिन सूर्य की उत्तरायण गति आरंभ होती है और इसी कारण इसको उत्तरायणी भी कहते हैं.

इस बार यह 15 को मनाई जाएगी. उदयातिथि के अनुसार, मकर संक्रांति इस बार 15 जनवरी को मनाई जाएगी.

क्या है पूरा इस तारीख के पीछे वजह

मकर संक्रांति पर इस बार दो तिथियों को लेकर लोग उलझन में हैं. हालांकि संक्रांति तब शुरू होती है जब सूर्य देव राशि परिवर्तन कर मकर राशि में पहुंचते हैं. ज्योतिषविदों के मुताबिक इस बार सूर्य 15 जनवरी को मध्यरात्रि 2 बजकर 30 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे. इसी के चलते 15 जनवरी सोमवार को मकर संक्रांति मनाई जाएगी. इस दिन गंगा स्नान, पूजा, जप-तप और दान करने का विधान है. शास्त्रों में निहित है कि मकर संक्रांति तिथि पर सूर्य देव उत्तरायण होते हैं.

यह भी पढ़ेंः महाराणा प्रताप के वंशज ने सीएम भजनलाल शर्मा से की मुलाकात, लक्ष्यराज सिंह मेवाड़ ने दिया खास न्यौता

यह भी पढ़ें...

    ADVERTISEMENT