राजस्थान: राहुल गांधी और गहलोत पर बरसे सांसद डॉ किरोड़ी, सरकार पर लगाए ये गंभीर आरोप

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan news: प्रतापगढ़ में जन आक्रोश सभा में पहुंचे राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने गहलोत सरकार और राहुल गांधी पर जबरदस्त वार किया. उन्होंने कहा कि नरेगा के काम नहीं चल रहे हैं, एक ग्रुप बन गया है जो नरेगा के पैसों को खा जाता है. लोग गुजरात में काम करने जाते हैं. भुखमरी, कुपोषण, धर्मांतरण के मामले बढ़ रहे हैं. राहुल गांधी पर कहा कि देश के प्रधानमंत्री को ललकार गए. लेकिन सीकर में गैंगवार हुआ, गोलियां चलने से बेटी से मिलने आए बाप की मौत हो जाती है उस पर कुछ नहीं बोला जाता. चारों तरफ कानून का राज खत्म है. यहां लूट-अपहरण-बलात्कार, हत्या, भू-माफिया और पेपर माफिया का कब्जा हो रहा है.

उन्होंने सीएम गहलोत को निशाना बनाते हुए कहा कि यहां के आदिवासी इलाकों में भुखमरी आपके कारण, कुपोषण आपके कारण, धर्मांतरण आपके कारण है. बेटे-बेटियों को गोद आप के कारण रख रहे हैं और बहन बेटियों की खरीद-फरोख्त हो रही है. यह सब पुलिस की ढिलाई के कारण हो रहा है. भारतीय जनता पार्टी के राज में एक भी आदिवासी भूखा नहीं सोएगा.

सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने कहा कि प्रदेश में लूट मची हुई है. यहां एसपी लूट रहा है, एमएलए भी लूट रहा है, मुख्यमंत्री भी लूट रहा है, सारे के सारे लूट रहे हैं. इससे जनता परेशान है. राजस्थान में देश की सबसे बड़ी बेरोजगारी है. यहां लाखों युवा बेरोजगार हैं. राहुल गांधी को अधिकार नहीं राजस्थान में बेरोजगारी पर भाषण देने का. सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार राजस्थान में है. राहुल जी सुन लो देश में अगर सबसे पहले घटना हुई है सिर कलम करने की सिर्फ उदयपुर राजस्थान में, यहां कन्हैयालाल का सिर कलम करके तनाव बढ़ा था, इस पर तो आप कुछ नहीं बोले.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

पेपर लीक पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का उदाहरण देते हुए कहा कि बार-बार परीक्षा रद्द करना कोई न्याय संगत बात नहीं है. पेपर माफियाओं की प्रॉपर्टी जप्त जेल में डालना चाहिए. लेकिन गहलोत सरकार आप क्यों नहीं लाते ऐसा कानून, आपका क्या रिश्ता हैं इनसे?

वहीं प्रतापगढ़ विधायक रामलाल मीणा ने राज्यसभा सांसद डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा पर एक बयान देकर भाजपा खेमे में उथल-पुथल मचा दी है. कहा कि डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा उनके राजनीतिक गुरु हैं. भले ही वह सरकार के कामों की प्रशंसा करें या विरोध, लेकिन मैं उसे विरोध नहीं मानता. उनके दिल में क्या है, इस पर अनुसंधान करने की जरूरत है. इस बयान के बाद राजनीतिक चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: सांसद हनुमान बेनीवाल का सरकार पर हमला, एफबी लाइव में मंत्री-अधिकारियों पर लगाए गंभीर आरोप!

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT