सीजन में अधिकतम तापमान 15 डिग्री से नीचे, कंपकंपाती ठंड से लोग परेशान, शीतलहर का अलर्ट

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Rajasthan weather update: राजस्थान में कई दिनों से हो रहा कड़ाके की ठंड का इंतजार गुरुवार को खत्म हो गया. प्रदेश में बुधवार रात से छाए घने कोहरे ने कंपकपाती सर्दी का एहसास करवा दिया है। हालांकि न्यूनतम तापमान में ज्यादा गिरावट नहीं देखी गई. लेकिन चूरू, गंगानगर, हनुमानगढ़ में कोहरे का प्रकोप रहा. इस कारण बुधवार को अधिकतम तापमान में गिरावट देखी गई. जिससे रात के साथ दिन में ठंड का एहसास होने लगा. वहीं कोहरा और ओस पड़ना रबी की फसलों के लिए फायदेमंद है. इस कारण किसानों के चेहरे भी खिले हुए नजर आए.

बता दें बुधवार को हनुमानगढ़ में अधिकतम तापमान सबसे कम (12.1) डिग्री रहा. जिससे यहां सबसे ज्यादा ठंड देखी गई. साथ ही कोहरे के कारण गंगानगर, पिलानी सहित शेखावाटी में भी रात के साथ दिन में भी अच्छी खासी ठंड देखने को मिली. गौरतलब है कि इस सीजन में पहली बार अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे दर्ज हुआ. इसके साथ ही प्रदेश बॉर्डर एरिया बीकानेर, जैसलमेर, बाड़मेर में भी तापमान में गिरावट देखी गई.

तापमान में गिरावट के कारण राजस्थान के कई इलाकों में सर्द हवाएं चल रही है, जिससे दिन में भी लोग ठिठुर रहे हैं. दिन में भी लोग सर्दी से बचाव के लिए अलाव ताप रहे हैं. लोग दिन में गर्म कपड़ों में दुबके नजर आए. बता दें गंगानगर, बीकानरे, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनूं में सुबह-सुबह घना कोहरा छाया रहा. वहीं मौसम विभाग ने अलवर, झुंझुनूं , सीकर, बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, नागौर, श्रीगंगानगर में 3 दिन तक शीतलहर की चेतावनी जारी की है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

चूरू में घने कोहरे से वाहन चालक हुए परेशान
चूरू शहर में सुबह से ही घने कोहरे के कारण ठंड का प्रकोप है। घने कोहरे के कारण लोग जगह-जगह अलाव जलाकर सर्दी का बचाव करते दिखाई दिए. सर्दी के कारण दिन का तापमान भी पहले से काफी नीचे (11.4) डिग्री आ गया है, जबकि न्यूनतम तापमान 5.3 डिग्री दर्ज किया गया. अचानक कोहरा से वाहन चालकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं लोग गर्म कपड़े पहनकर सर्दी का बचाव कर रहे हैं. स्कूल जाने वाले छोटे बच्चे भी कंपकंपाती ठंड से परेशान होते नजर आए. सर्दी की वजह से ट्रेनें भी लेट हो रही हैं. जिसके कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

कोहरे के कारण दिन में जलानी पड़ी लाइटें
फतेहपुर (सीकर) प्रदेश के सबसे ठंडे मैदानी इलाकों में आता है. लेकिन इस बार कड़ाके की ठंड के इंताजार में आधे से ज्यादा दिसंबर निकल गया था. ऐसे में गुरूवार को मौसम का मिजाज बदल गया. जिससे यहां पर सीजन का सबसे घना कोहरा छाया. सुबह से ठंडी हवाओं ने लोगों को परेशान किया है. गुरूवार को तापमान में गिरावट से हुए कोहरे के कारण दिन में ही लोग वाहनों की लाइट जलाकर ड्राइविंग करते देखे गए. बता दें यहां न्यूनतम तापमान 6 डिग्री दर्ज हुआ, जबकि दिन में अधिकतम तापमान 20 डिग्री से कम रहा. वहीं दिन में लगभग 10 बजे बाद धिरे-धिरे कोहरा छंटने लगा. इसके बाद हल्की धूप भी खिली. लेकिन दिन में धूप-छांव में आंखमिचौली का खेल चलता रहा.

ADVERTISEMENT

हनुमानगढ़ में 4 दिन से धूप का इंतजार
पिछले 4 दिनों से हनुमानगढ़ में सूर्य देवता के दर्शन नहीं हुए. चारों तरफ कोहरा ही कोहरा होने से सुखी ठंड पड़ रही है. अचानक बदले मौसम के मिजाज से लोग बिमार भी हो रहे हैं. इस कारण अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है. जबकि फसलों के लिए ठंड का इंतजार कर रहे किसानों के चहेरे पर खुशी देखी गई. कृषि विशेषज्ञों के अनुसार ठंड, कोहरा, ओस रबी की फसलों के लिए वरदान से कम नहीं है.

ADVERTISEMENT

यह है प्रदेश के प्रमुख स्थानों का तापमान
मौसम विभाग के मुताबिक जयपुर का अधिकतम तापमान 24.4 और न्यूनतम 11.9 डिग्री, सीकर का अधिकतम तापमान 24. 8 और न्यूनतम 7.5 डिग्री, अजमेर 25.9 और 13.3, अलवर में 21.3 और न्यूनतम 7.2 डिग्री, चूरू में अधिकतम तापमान 21.8 और न्यूनतम 5.2, हनुमानगढ़ में अधिकतम 12.1 और न्यूनतम 6.3, जैसलमेर में अधिकतम 25.0 और न्यूनतम 8.0, बिकानेर में अधिकतम 26.2 और न्यूनतम 7.4, श्रीगंगानगर में अधिकतम 13.1 और न्यूनतम 6.2 रिकॉर्ड किया गया.

दिन का तापमन गिरने कोल्ड डे की शुरूआत
मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक दिन का अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहता हो और हल्की सर्द हवाएं चलती हो तो वह उस दिन का कोल्ड-डे माना जाता है. राजस्थान में विंटर सीजन में दिसंबर-जनवरी में कोल्ड-डे होते है। मौसम विभाग के अनुसार दिसंबर-जनवरी में लगभग 8-10 दिन कोल्ड-डे के आते है. बता दें इस सीजन में पहली बार कई जिलों में दिन का तापमान 20 डिग्री से नीचे पहुंच गया है.

इनपुट: गुलाम नबी, राकेश गुर्जर, विजय चौहान

    ADVERTISEMENT