यूरिया संकट: रूठे ‘यूरिया देव’ को किसान ने पूजा कर मनाया, वीडियो वायरल

ADVERTISEMENT

फोटो: प्रमोद तिवारी
फोटो: प्रमोद तिवारी
social share
google news

राजस्थान में यूरिया खाद की कमी के कारण किसान परेशान है. भीलवाड़ा जिले में भी खाद की किल्लत देखी जा रही है. वहीं कांटी गांव में सुबह 4 बजे से लाइन में लगे हुए किसानों की भगदड़ मचने से एक महिला की हड्डी टूट गई. दूसरी ओर जहाजपुर क्षेत्र में किसान को यूरिया का एक बैग मिलने पर उसे खेत में रख अगरबत्ती जला कर पूजा करने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, वीडियो में किसान यूरिया को देवता मानकर अब नही रूठने की प्रार्थना कर रहा है.

जिले के कोटडी उपखंड के काटी गांव में ग्राम सेवा सहकारी समिति के बाहर किसान सुबह 4 बजे से यूरिया लेने के लिए लाइन में लगे थे. तभी भगदड़ मच जाने से एक महिला नीचे गिर गई और उसके कूल्हे की हड्डी टूट गई, जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

सहकारी समिति के व्यवस्थापक राधेश्याम कीर ने बताया शाम को यूरिया के 640 बैग आए थे. बुधवार सुबह इनकी सप्लाई की गई, सुबह 4 बजे से डेढ़ हजार से अधिक किसान खाद लेने के लिए जमा हो गए. भीड़ बेकाबू हो गई इसी भगदड़ में मीणा के खेड़ा गांव की एक महिला नीचे गिर गई, जिससे उनके कूल्हे की हड्डी टूट गई, उसे उपचार के लिए शाहपुरा के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

यूरिया देवता का वीडियो जहाजपुर उपखंड क्षेत्र का बताया जा रहा है, जिसमें किसान खेत में यूरिया के कट्टे के सामने अगरबत्ती जलाकर पूजा करते नजर आ रहे हैं. यूरिया के कट्टे को खड़ा करके किसान अपने दूसरे साथी को कह रहा है अगरबत्ती जलाओ, यह हमारा यूरिया देव है, नाराज हो गए थे. 6 घंटे तक एक पैर पर खड़े रहकर तपस्या की जब जाकर यह खेत में प्रकट हुए हैं.

इसलिए इनकी पूजा कर रहे हैं. अगरबत्ती जलाने के बाद किसान यूरिया के बैग के आगे हाथ जोड़कर सर झुकाकर धोक भी लगा रहे हैं और प्रार्थना कर रहे हैं. हे मेरे यूरिया देव तू नाराज मत हो. यह दो तस्वीरें भीलवाड़ा जिले में रबी की फसल के समय किसानों को हो रही रसायनिक खाद की किल्लत की कहानी खुद-ब-खुद बयां करती है.

ADVERTISEMENT

कंटेंट:प्रमोद तिवारी

ADVERTISEMENT

    ADVERTISEMENT