अलवर: गौतम अडाणी को लगाने वाले थे 1 करोड़ का चूना, पुलिस ने शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Alwar News: अलवर जिले के उद्योग नगर थाना पुलिस ने फर्जी दस्तावेज देकर एवं परिवहन वाहन के नंबर, इंजन व चेचिस नंबर बदलकर कंपनियों से माल भाड़ा लेकर ट्रकों में करोड़ों का माल भरने के बाद उस माल को चोरी और खुर्द बुर्द करने वाली गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. इनके कब्जे से एक करोड़ 2 लाख रूपये की कीमत के फॉर्च्यूनर तेल व अन्य खाद्य पदार्थ बरामद किया है. ये माल अडानी विल्मर लिमिटेड को भेजना था. जिसको आरोपियों ने खुर्द बुर्द कर लिया था.

उद्योग नगर थाना पुलिस ने बताया कि यूनाइटेड लॉजिस्टिक कंपनी के दिनेश चौहान ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनकी कंपनी का मुख्य कार्यालय गुजरात गांधीनगर में है और वह अडानी विल्मर लिमिटेड के अधिकृत ट्रांसपोर्टर का काम देखता हैं. उनकी कंपनी का पिछले 16 वर्षों से अडानी विल्मर लिमिटेड का ट्रांसपोर्टेशन करते आ रहे हैं.

दिनेश चौहान ने रिपोर्ट में बताया कि हमारी कंपनी के अलवर कार्यालय के कर्मचारियों को दैनिक कार्यवहन के अंतर्गत अडानी विल्मर लिमिटेड ने अपने अलवर प्लांट से फॉर्च्यूनर का तेल व अन्य खाद्य सामग्री भेजने के लिए आर्डर किया था. जिसके पश्चात हमारी कंपनी के कर्मचारियों ने रोज की तरह बंगाल, बिहार, उड़ीसा लाइन के ट्रांसपोर्टर मुस्कीम रोड लाइंस के प्रतिनिधि राहुल खान से ट्रक उपलब्ध कराने के लिए संपर्क किया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

उन्होंने ट्रक कटक के लिए और पटना के लिए ट्रक मालिक का नाम राधेश्याम गुर्जर और इस वाहन में चालक राजकुमार मीणा पुत्र अमर सिंह मीणा हमें प्रदान कर दिया. सभी जरुरी कार्यवाही करने के बाद जैसे गाड़ी के रजिस्ट्रेशन अन्य कागजों की कॉपी एवं गाड़ी का मालिक पहचान पत्र की कॉपी लेने के बाद हमने कंपनी के ट्रांसपोर्ट आर्डर के अनुसार अलवर के अडानी कंपनी के प्लांट से 7 व 8 दिसंबर को तेल भरकर डिपो के लिए रवाना किया.

13 दिसंबर 2022 को फोन करने पर वाहन मालिक व ड्राइवर द्वारा फोन नहीं उठाया गया. तभी उक्त ट्रांसपोर्टर मुश्किम रोडलाइंस के प्रतिनिधि राहुल खान के कार्यालय में फोन करके पूछा गया तो पाया कि गाड़ी से संपर्क ही स्थापित नहीं हो रहा है. जब हमने वाहन की स्थिति जानने के लिए चालक को फोन करने की कोशिश की तो उसका फोन बंद था.

ADVERTISEMENT

उसके बाद हमने लगातार कोशिश करते रहे उसका फोन स्विच ऑफ था. उसके बाद हमने वहां की स्थिति के बारे में दलाल और वाहन के मालिक को कॉल करने का प्रयास किया तो उसकी प्रतिक्रिया सही नहीं थी. ना ही वाहन वास्तविक स्थान का खुलासा किया. रिपोर्ट में आशंका जताई कि ट्रांसपोर्टर के गाड़ी मालिक ने ड्राइवर के साथ मिलकर सारा सामान बेच दिया. इस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू की.

ADVERTISEMENT

पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू की. आरोपियों को चिन्हित कर धोखाधड़ी कर फर्जी तरीके से माल भरकर गायब करने वाली गैंग की मुखिया से तलाश की गई. इस दौरान आरोपी शकील पुत्र सलाउद्दीन निवासी तलाव थाना हिंडोली जिला बूंदी को गिरफ्तार किया गया और उसके ट्रक चालकों को मुलजिम की निशानदेही से झालावाड़ से ट्रक चालक राकेश पुत्र नंदा राम मीणा निवासी हनुमान नगर भीलवाड़ा एवं संजय पुत्र रामेश्वर मीणा निवासी हनुमान नगर भीलवाड़ा को गिरफ्तार किया गया.

इस मामले मे पांच आरोपी और हैं जो फरार चल रहे हैं. पुलिस के अनुसार मुख्य सरगना इनामुद्दीन उर्फ बोना पुत्र मुबारक निवासी जिला बूंदी, मुख्य सरगना का सहयोगी एवं वाहन फर्जी इंजन में चेचिस बदलने वाला सद्दाम पुत्र सलामू निवासी बूंदी, राधेश्याम गुर्जर पुत्र बद्री लाल गुर्जर निवासी भीलवाड़ा अन्य ट्रक ड्राइवर शकील निवासी बूंदी एवं फर्जी कार्य के लिए ट्रक ट्रेलर उपलब्ध कराने वाला पप्पू साठिया पुत्र बदरुद्दीन निवासी बूंदी हैं, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.

उन्होंने बताया कि चोरी किए गए पूरे माल की कीमत करीब एक करोड़ दो लाख है जिसे बरामद कर लिया है. इन आरोपियों ने पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दिया था. राजस्थान के बारां जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत सरसों के दो टेलर चोरी करना कबूल किया. इसके अलावा हनुमानगढ़ गंगानगर जिले की 2 कॉटन फैक्ट्रियों से एक ही दिन में भेजी गई नब्बे लाख रूपए की 300 गांठों से भरा दो ट्रक गायब करने का मामला दर्ज है. उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्रों में एवं कृषि उपज मंडियों में व्यवसायियों व्यापारियों के माल को ट्रांसपोर्ट के नाम पर ट्रक ट्रेलर को फर्जी दस्तावेज देकर चोरी की नीयत से माल भरकर अन्य जगह पर बेच देते हैं.

चंबल किनारे वाइल्डलाइफ का मनोरम दृश्य, गुनगुनी धूप में मगरमच्छ, घड़ियाल और माइग्रेटरी बर्ड दिख रहे इस अंदाज में

    ADVERTISEMENT