बाड़मेर की सीमा पर हेरोइन तस्करी का बड़ा खेल, पुलिस ने गिरफ्तार किया तस्कर

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Barmer News: पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर से लगती पाकिस्तान की सीमा से हेरोइन की तस्करी लगातार जारी है. एटीएस, बीएसएफ ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए 380 ग्राम हेरोइन के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है. जबकि तस्कर का एक साथ स्कॉर्पियो से भागने में कामयाब हो गया. मामला बाड़मेर जिले के रीको थाना क्षेत्र के उत्तरलाई रोड का है.

दरअसल, एटीएस को इनपुट मिला था कि कुछ तस्कर उत्तरलाई रोड पर हेरोइन की सप्लाई देने की फिराक में है. इनपुट पर एटीएस के एएसपी वीरेंद्रसिंह ने जाब्ते के साथ नाकाबंदी करवाई. इस दौरान एक बिना नंबरी बाइक पर दो युवक नजर आए. एटीएस की टीम ने रुकने का इशारा किया तो दोनो बाइक घुमाकर भागने लगे. एटीएस ने पीछा किया, दोनों बाइक छोड़कर भागने लगे. जबरसिंह नामक तस्कर स्कॉर्पियो में सवार होकर भाग गया. वहीं नरेंद्रसिंह नामक तस्कर को एटीएस ने पीछा कर दबोच लिया. एटीएस ने नरेंद्रसिंह के कब्जे से 380 ग्राम हेरोइन बरामद कर रीको थाने में तस्करों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. वहीं पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है.

सीमावर्ती गांव से दोनों के पास पहुंची हेरोइन
गिरफ्तार आरोपी नरेंद्रसिंह ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि जबरसिंह से उसकी दोस्ती है. हेरोइन के पैकेट सीमावर्ती बावड़ी कला निवासी दुर्जनसिंह के मार्फत उनके पास पहुंचे है. जबरसिंह और दुर्जनसिंह की मुलाकात जेल में हुई थी. बावड़ी कला गांव इंडो पाक बॉर्डर के नजदीक है. संभवतः दुर्जनसिंह ने ही सीमा पार से आई हेरोइन को रिसीव किया है. ऐसे में अब दुर्जनसिंह और जबरसिंह की गिरफ्तारी के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

सीमावर्ती लोगों को लालच देकर तस्करी के जोड़ रहे पाक तस्कर
पाकिस्तान में बैठे तस्कर पुराने लोगों के पकड़े जाने के बाद सीमावर्ती लोगों को लालच देकर नए तस्कर तैयार कर रहे हैं. पिछले तीन महीनों में सुरक्षा एजेंसियों ने तस्कर स्वरूपसिंह और गोविंदगिरी को गिरफ्तार किया है. तस्कर स्वरूपसिंह ने 15 किलोग्राम हेरोइन की खेप दिल्ली और पंजाब के तस्करों तक पहुंचाई थी. इसके बाद 40 किलोग्राम हीरोइन की खेप आनी थी. लेकिन उससे पहले स्वरूपसिंह सुरक्षा एजेंसियों के हत्थे चढ़ गया. वहीं गोविंदगिरी ने 3 किलोग्राम हीरोइन की सप्लाई पंजाब के तस्करों तक पहुंचाई थी. जब नाकाबंदी के दौरान पंजाब में तस्कर पकड़े गए तो गोविंदगिरी के तस्करी का खुलासा हुआ. जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ें: RPSC 2nd Grade Teacher Exam: आयोग ने 49 आरोपियों के खिलाफ लिया यह बड़ा एक्शन

ADVERTISEMENT

सेंधमारी रोकने में नाकामयाब सुरक्षा एजेंसियां
पाक से लगती बाड़मेर जिले की सीमा से लगातार हेरोइन तस्करी हो रही है. पाक तस्कर हर अपना नया तरीका इस्तेमाल कर हेरोइन की खेप दिल्ली और पंजाब तक पहुंचा रहे हैं. शातिर इतने की बीएसएफ, एटीएस और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती. हालांकि, बॉर्डर पर सीमा सुरक्षा बल, इंटेलिजेंस, पुलिस समेत कई सुरक्षा एजेंसियां कड़ी निगरानी कर रही है. बावजूद इसके पाक तस्कर नई तरकीबों से सुरक्षा एजेंसियों को धत्ता बताते नजर आ रहे हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: Paper Leak: आरोपियों ने बताई ये सच्चाई! प्लान बनाने से पकड़े जाने तक की पूरी कहानी

    ADVERTISEMENT