जिस पति ने कोचिंग कराकर बनाया कांस्टेबल, उसी की प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने कर दी हत्या

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Another Jyoti Maurya Case in Bharatpur: राजस्थान के भरतपुर (Bharatpur News) में ज्योति मौर्या (Jyoti maurya) की तरह ही एक केस सामने आया है. हालांकि यह सिर्फ पत्नी की दगाबाजी का मामला नहीं है, बल्कि प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या (Murder) भी कर दी गई. यह हैरान कर देने वाली घटना है भरतपुर जिले की. जब एक महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पति को मौत के घाट उतार दिया, क्योंकि पति अवैध प्रेम संबंध में रोड़ा बन रहा था.

राजस्थान तक से खास बातचीत में मृतक संजय के परिजनों ने बताया कि 2010 में शादी के बाद संजय की पत्नी पूनम को ससुराल वालों ने पढ़ाया लिखाया और सरकारी नौकरी लगाया. लेकिन नौकरी लगने के बाद उसके ड्यूटी पर अपने साथी के साथ अवैध संबंध हो गए. जब पति संजय को शक हुआ तो उसने अपनी पत्नी पूनम के साथ मारपीट भी की. जब पूनम ने देखा कि मेरा पति हमारे प्रेम संबंध के बीच रोड़ा बन रहा है तो उसने अपने ही पति के कत्ल की साजिश रच डाली.

मृतक के पिता मनीराम ने बताया कि मेरे तीन पुत्र संजय, अजय और भवानी की शादी 3 सगी बहन पूनम, सुशीला और सोनिया के साथ हुई थी. पूनम सबसे बड़ी बहू थी और वह पढ़ लिखकर सरकारी नौकरी लगना चाहती थी. इसलिए उसे पढ़ाने के लिए ससुराल से पूरा सपोर्ट मिला. आरोपी महिला पूनम की छोटी बहन सोनिया ने कहा कि मेरी बड़ी बहन ने पाप किया है, क्योंकि शादी के बाद भी ससुर और पति ने उस को पढ़ाने के लिए छूट दी थी. जब सरकारी नौकरी लग गई तो उसने अपने ही पति का कत्ल कर दिया.

गौरतलब है कि यह मामला खोह थाना इलाके के गांव नारायणा चौथ का है. जहां के रहने वाले संजय की पत्नी पूनम सीआरपीएफ में तैनात है. दिल्ली में पोस्टेड पूनम ने बीते 31 जुलाई को अपने पति संजय को फोन करके दिल्ली बुलाया था. जहां सीआरपीएफ में ही तैनात बानसूर (अलवर) निवासी प्रेमी रामप्रताप गुर्जर के साथ मिलकर पति संजय की गला दबाकर हत्या कर दी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

हत्या करने के बाद महिला का प्रेमी शव को अपने बानसूर स्थित प्लॉट पर ले जाकर दफना दिया. परिजन उस समय चिंतित हुए जब संजय की काफी समय से कोई सूचना नहीं मिली. इसकी सूचना उन्होंने खो थाना पुलिस को दी. पुलिस की जांच में सच सामने आया जो दिल दहलाने वाला था. संजय के गायब होने के बाद पुलिस ने उसकी पत्नी पूनम से दिल्ली जाकर पूछताछ की. जिसमें वारदात का खुलासा हुआ.

नौकरी के लगने के बाद हो गया प्यार

जानकारी के मुताबिक अपने पति की हत्या करने वाली पूनम के तीन बच्चे हैं, जिसकी सबसे बड़ी लड़की कक्षा 8वीं में पढ़ती है. दोनों की शादी करीब 13 वर्ष पहले 2010 में हुई थी. संजय गांव में ही रहकर खेती-बाड़ी करता था. इसी बीच करीब 9 साल पहले संजय की पत्नी पूनम का सिलेक्शन सीआरपीएफ में कांस्टेबल के पद पर हो गया था. वह नौकरी लग गई थी. नौकरी के दौरान ही पूनम को अपने साथी कांस्टेबल रामप्रताप से प्यार हो गया. इसलिए पूनम ने अपने प्रेमी रामप्रताप के साथ मिलकर अपने ही पति संजय को मौत के घाट उतार दिया.

ADVERTISEMENT

छुट्टी पर गांव पहुंची तो परिजनों ने पूछा ये सवाल

2 अगस्त को पूनम छुट्टी लेकर गांव आ गई. लेकिन संजय के बारे में पूछने पर उसने कुछ नहीं बताया. बाद में पुलिस की पूछताछ में पूनम ने कबूल किया कि मैंने अपने पति संजय को दिल्ली बुलाया था और वही कार में बिठाकर अपने प्रेमी रामप्रताप के साथ मिलकर संजय की हत्या कर दी थी. हत्या करने के बाद पूनम अपनी यूनिट में चली गई और उसका प्रेमी रामप्रताप शव को लेकर बानसूर पहुंच गया और दफना दिया. दरअसल तीन सगे भाई संजय, अजय, भवानी की शादी तीन सगी बहन पूनम, सुशीला, सोनिया के साथ हुई थी. पूनम सबसे बड़ी बहन थी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ेंः नए जिले सलूंबर में शर्मनाक घटना! हॉस्पिटल में नाबालिग से रेप, 1 महीने बाद हुआ खुलासा

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT