बाड़मेर में पागल कुत्ते का आतंक, 40 लोगों को काटा, हॉस्पिटल का इमरजेंसी वार्ड फुल

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Barmer News: राजस्थान में एक आवारा कुत्ते ने इतना आतंक मचाया कि एक के बाद एक 10 नहीं, 20 नहीं, 40 से ज्यादा लोगों को घायल कर दिया. हालत यह हो गई कि मेडिकल कॉलेज के राजकीय अस्पताल में महज 1 घंटे में आवारा कुत्ते के काटने से इमरजेंसी वार्ड पूरा भर गया. पागल कुत्ता शहर के कई हिस्सों में लोगों को घायल करते-करते अस्पताल तक पहुंच गया. जिससे अस्पताल में भी हड़कंप मच गया. जहां पर भर्ती मरीज बेड पर सो रहे थे. फिर अस्पताल के कर्मचारियों ने काफी मशक्कत करने के बाद आवारा कुत्ते को पकड़कर नगर परिषद को सौंप दिया. लेकिन इस खबर ने शहरवासियों में जबरदस्त तरीके से दहशत पैदा कर दी.

जानकारी के अनुसार बाड़मेर शहर के कल्याणपुरा, माणक हॉस्पिटल के पास, सेवा सदन के पास और राजकीय अस्पताल के मुख्य द्वार पर एक पागल कुत्ते ने एक-एक कर करीब 40 लोगों को काटकर घायल कर दिया. इनमे महिलाएं भी शामिल है. एक-एक कर जब घायलों को अस्पताल लाया गया तो अस्पताल प्रबंधन भी सकते में आ गया. आनन-फानन में पागल श्वान की सूचना नगर परिषद को दी गई. नगर परिषद की टीमों ने शहर के अलग-अलग इलाकों में पागल श्वान को पकड़ने के प्रयास शुरू किए. अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ बीएल मंसूरिया ने बताया कि अचानक की आवारा कुत्ते काटने के कई घायल मरीज अस्पताल में भर्ती हुए हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

श्वान के हमले में करीब 40 लोग घायल हैं. आवारा कुत्ते ने कहीं किसी राह चलती महिला को काट खाया तो कहीं बाइक सवार को अपना शिकार बनाया. अलग अलग इलाकों में पागल श्वान ने करीब 40 लोगों पर हमला कर घायल कर दिया. घायल लोगों में कोई अपनी ऑफिस से घर लौट रहा था तो कोई वॉक पर निकला था. लोगों का कहना है कि काले रांग के डॉगी ने हमला बोलकर घायल कर दिया. अस्पताल प्रबंधन ने घायलों का इलाज शुरू कर नगर परिषद को सूचना दी. आखिरकार श्वान अस्पताल आ धमका, जहां एक सफाईकर्मी को आवारा श्वान ने घायल कर दिया.

ADVERTISEMENT

करीब 40 लोगों पर हमला करने के बाद पागल श्वान जिला अस्पताल में पहुंच गया. जहां श्वान ने एक सफाई कर्मचारी पर भी हमला कर घायल कर दिया और मरीजों के वार्ड में पहुंच गया. जिसके बाद अस्पताल के कार्मिकों और अन्य लोगों ने श्वान को बेड के चद्दर की मदद से पकड़ लिया और नगर परिषद की टीम को बुलाकर पागल श्वान सुपुर्द किया.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें: नागौर: चाय बनाते समय गैस सिलेंडर फटा, मकान धूं-धूं कर जला, यूं हुआ हादसा

    ADVERTISEMENT