क्राइम पेट्रोल के 1300 एपिसोड देखे, फिर प्रेमिका को मारकर ड्रम में भर दिया, हैरान कर देगी मर्डर की ये कहानी

ADVERTISEMENT

क्राइम पेट्रोल के 1300 एपिसोड देखे, फिर प्रेमिका को मारकर ड्रम में भर दिया, हैरान कर देगी मर्डर की ये कहानी
क्राइम पेट्रोल के 1300 एपिसोड देखे, फिर प्रेमिका को मारकर ड्रम में भर दिया, हैरान कर देगी मर्डर की ये कहानी
social share
google news

Rajasthan Crime News: राजस्थान के उदयपुर (udaipur news) में एक युवक ने 1300 से अधिक क्राइम पेट्रोल के एपिसोड देखकर अपनी महिला साथी को ठिकाने लगा दिया. वह दो साल तक पुलिस की पकड़ से बचता रहा. लेकिन जब पुलिस ने आर्म्स एक्ट के संदेह में उसे गिरफ्तार किया तो 2 साल पहले हुए इस मर्डर का खुलासा हो गया.

जानकारी के अनुसार, प्रताप नगर थाना पुलिस ने आर्म्स एक्ट में कार्रवाई करते हुए राहुल राज चतुर्वेदी नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था. उससे पूछताछ की तो दो साल पहले हुए भानुप्रिया की मर्डर मिस्ट्री सॉल्व हो गई.

युवक ने मर्डर के बाद लाश को ऐसे लगाया ठिकाने

उदयपुर एसपी भुवन भूषण यादव ने कहा कि पूछताछ में आरोपी ने अपने साथ रहने वाली महिला भानुप्रिया की हत्या करने की बात कबुल करते हुए बताया कि वो हनुमान मंदिर का पुजारी है. वह 2019 से धानमंडी निवासी भानुप्रिया के साथ रहता था. 2021 में आपसी कहासुनी होने के बाद उसने उसे मार डाला. बाद में क्राइम पेट्रोल के एपिसोड देखकर लाश को ठिकाने लगाने की ट्रिक सीखी और उसी आधार पर भानुप्रिया के शव को डिस्पोज किया. आरोपी ने भानुप्रिया को जान से मारने के बाद क्राइम पेट्रोल में बताए अनुसार उसे एक लोहे के ड्रम में रखा और ऊपर से सीमेंट डालकर पैक कर दिया.

लेकिन कुछ समय पहले वो जब किसी काम से बाहर गया तो ड्रम में छेद हो जाने से कमरे से बदबू आने लगी. इसपर मकान मालिक ने राहुल राज को फोन कर बुलाया और सफाई करने को कहा. आरोपी ने उस वक्त मकान मालिक को पूरी कहानी बता दी. उसके बाद आरोपी ने मकान मालिक के साथ मिलकर ड्रम में बंद भानुप्रिया के शव को टुकड़े टुकड़े करके जला दिया और राख के साथ अन्य सबूत को राजसमंद की बनास नदी में फेंक दिया. प्रताप नगर थाना पुलिस ने आर्म्स एक्ट के तहत आरोपी को गिरफ्तार किया तो उसने पूरी कहानी उगल दी जिसके बाद पुलिस ने मौके से साक्ष्य जुटाए.

यह भी पढ़ें...

यह भी पढ़ेंः पहले सर्वदलीय बैठक का बहिष्कार और फिर सदन में किया हंगामा, जानिए आखिर क्या है बेनीवाल की मांग?

    ADVERTISEMENT