Alwar: 600 कमांडोज, नहलाने के लिए 'कुंवारी लड़कियां', ऐसी लग्जरी लाइफ जीता था सूरजपाल जाटव उर्फ भोले बाबा

राजस्थान तक

ADVERTISEMENT

हाथरस में सत्संग आयोजन में भगदड़ मचने के बाद सूरजपाल जाटव उर्फ भोले बाबा काफी चर्चा में हैं. उससे भी ज्यादा चर्चा में है उसके आश्रम और लग्जरी लाइफ के किस्से.

social share
google news

हाथरस में सत्संग आयोजन में भगदड़ मचने के बाद सूरजपाल जाटव उर्फ भोले बाबा काफी चर्चा में हैं. उससे भी ज्यादा चर्चा में है उसके आश्रम और लग्जरी लाइफ के किस्से. ऐसा बाबा जिसे पसंद है लग्जरी लाइफ, जो करता है फॉर्च्यूनर की सवारी और जिनके चारों तरफ हर वक्त कुंवारी लड़कियां रहती हैं. लेकिन 2 जुलाई की घटना के बाद उसके राज अब खुलने लगे हैं. इस सत्संग में 2.50 लाख से भी ज्यादा भक्त पहुंच गए. थोड़ा वक्त बीता और बाबा की भक्ति में लीन लोग  हादसे का शिकार हो गए. भीड़ एक साथ निकली तो रास्ता छोटा पड़ गया और लोग एक दूसरे पर चढ़कर बाहर निकलने लगे. 

आरोप तो ये भी है कि सत्संग खत्म होने के बाद भोले बाबा जल्दी में वहां से निकल रहे थे कि तभी कई लोग एक साथ उनके पैर छूने.. उनका आशीर्वाद लेने पहुंच गए और इसी दौरान बड़ा हादसा हो गया. अब पूरे मामले को लेकर जांच जारी है.

 

 

लेकिन जब 2020 में जब लॉकडाउन हुआ था तो वह अलवर के एक आश्रम में करीब 8 महीने तक रहा. जहां लोगों के खाने के भी लाले पड़े थे, वहां भोले बाबा पूरे ऐशो-आराम के साथ लॉकडाउन का समय काट रहे थे. ये बाबा अपने आश्रम में ही पूरी लग्जरी लाइफस्टाइल जीते हैं. लोगों ने बताया कि जब भी बाबा आश्रम में आते थे तो नीम की पत्तियों से खास पानी तैयार किया जाता था. 

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT