भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर मौजूद है ये ऐतिहासिक सूर्य मंदिर, जहां रविंद्र भाटी ने उठाया ये कदम

ADVERTISEMENT

Rajasthantak
social share
google news

Ravindra singh bhati: बाड़मेर जिले की शिव विधानसभा से युवा विधायक रविंद्र सिंह भाटी (Ravindra singh bhati) चुनाव में जीत हासिल करने के बाद क्षेत्रवासियों का आभार जताने के लिए यात्रा पर हैं. इसके लिए वह जन सम्मान पदयात्रा का आगाज कर चुके हैं. विधायक रविंद्र सिंह भाटी ने यात्रा की शुरुआत शिव विधानसभा मुख्यालय स्थित बाबा गरीब नाथजी के मठ में पूजा अर्चना के साथ की थी.

आज 12 जनवरी को उन्होंने गांव देवका स्थित ऐतिहासिक धरोहर सूर्य मंदिर में दर्शन किए. ग्राम पंचायत राजडाल और बरीयाड़ा की टीम ने साफ-सफाई और श्रमदान कार्य किया. यहां कल 13 जनवरी को सूर्य मंदिर देवका में सूर्य नमस्कार का 8:15 बजे कार्यक्रम रखा गया हैं

12वीं सदी का है यह सूर्य मंदिर

बाड़मेर-जैसलमेर रोड़ पर 62 किमी की दूरी पर एक छोटे से गांव देवका में मौजूद यह मंदिर 12वीं-13वीं शताब्दी में बनाया गया था. इसकी वास्तुकला अविश्वसनीय और अदभुत है. इसी गांव में दो और मंदिरों के खण्डहर मिलते हैं, जिनमें भगवान गणेश की मूर्तियां हैं. देवका के मंदिर समूह में सूर्य मंदिर के अतिरिक्त शिव, कुबेर और विष्णु के मंदिर भी विद्यमान हैं. जानकारी के मुताबिक सूर्य पूजा के प्राचीन महत्व को दर्शाने वाले यहां के पूर्वाभिमुख शिखरवाले सूर्य मंदिर के अंदर गर्भगृह बना है और आगे सभामंडप बना हुआ है. सभामंडप के उत्तर और दक्षिण में अत्यंत सुंदर गोख व मकर तोरण निर्मित हैं.

किरोड़ी मीणा को जो मिला उससे सचिन पायलट खुश नहीं! इसलिए तो कही ये बात, देखें यह Video

यह भी पढ़ें...

    ADVERTISEMENT